Monday , November 20 2017
Home / Bihar News / 25 साल का हिसाब दें लालू-नीतीश : वजीरे आजम

25 साल का हिसाब दें लालू-नीतीश : वजीरे आजम

भागलपुर : पॉलिटिकल पंडित हवा का रुख पहचान लें, अवाम का मिजाज पहचान लें, 25 साल में पहली बार बिहार की अवाम ने तरक़्क़ी के लिए वोट करने का अहद लिया है। अब इस जीत की सफर को कोई रोक नहीं सकता। ये बातें वजीरे आजम नरेंद्र मोदी ने मंगल को हवाई अड्डा मैदान में मुनक्कीद अपनी चौथी परिवर्तन रैली के दौरान कहीं। रैली में भारी भीड़ से खुश वजीरे आजम ने कहा कि अब चाहे जितने पार्टी इकट्ठे हो जाएं, कितना भी भ्रम फैला लें, बिहार की अवाम किसी के जाल में आनेवाली नहीं है।

तकरीबन 45 मिनट के अपने खिताब में वजीरे आजम ने रियासत की जदयू हुकूमत के साथ-साथ दो दिन साबिक़ पटना में मुनक्कीद अजीम इत्तिहाद की स्वाभिमान रैली पर जम कर निशाना साधा। वजीरे आजम ने सवाल किया कि 25 सालों से जिन लोगों ने बिहार में राज किया है, उन्हें अपने काम का हिसाब देना चाहिए कि नहीं? अजीम इत्तिहाद की तरफ से उनसे सवाल पूछे जाने पर वजीरे आजम ने कहा कि हम जब लोकसभा इंतिख़ाब के लिए पांच साल बाद दोबारा वोट मांगने आयेंगे, तो पाई-पाई का हिसाब देंगे।

14 माह बाद बिहार की याद आने के इल्ज़ाम पर उन्होंने कहा कि याद उसे आती है, जो भूल जाता है। हम तो भूले ही नहीं। हर मौके पर बिहार सरकार को फोन किया, हर मुमकिन मदद की। वजीरे आजम ने उलटे सवाल किया कि क्यों नहीं वे अपना हिसाब दे रहे कि बिहार में तरक़्क़ी क्यों नहीं हुआ? बिजली क्यों नहीं मिली? उन्होंने कहा कि ये हुकूमत में बैठे लोग अपने काम और कारनामों का हिसाब देने के लिए तैयार नहीं हैं, इसलिए हम बिहार की अवाम से दरख्वास्त करता हूं कि वे उनलोगों से सवाल करें।

पूछें कि आपने कहा था कि 2015 तक मैं बिजली न दे पाया, तो वोट मांगने नहीं आऊंगा, पर क्या बिजली मिली और नहीं मिली, तो क्यों वोट मांगने आये हैं। उन्होंने कहा कि जो आज आपसे वादाखिलाफी कर रहे हैं, वे आगे पता नहीं क्या-क्या करेंगे. इसलिए इनका 25 साल का हिसाब चाहिए।

वजीरे आजम ने कहा कि आरा में मैंने सवा लाख करोड़ के पैकेज की एलान की, तो उसकी वे दो-तीन दिनों तक तनकीद करते रहे। लेकिन जब जान लिया कि इस रियासत की अवाम पर असर नहीं पड़ रहा, तो अपनी तरफ से 2.70 लाख करोड़ के पैकेज का एलान कर दिया। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार का पांच साल का बजट ढाई लाख से पौने तीन लाख करोड़ का है।

इसी खर्च को उन्होंने पैकेज के तौर में पेश कर दिया। वजीरे आजम ने कहा कि मरकज़ की तरफ से सवा करोड़ पैकेज के अलावा अगले पांच साल में 14वें फाइनेंस कमिशन से बिहार को तीन लाख 74 हजार करोड़ रुपये मिलनेवाले हैं। इनमें से वे 2.70 लाख करोड़ पैकेज के तौर में खर्च दिखा दिया, तो बाकी एक लाख छह हजार करोड़ रुपये चारा में लगायेंगे क्या? उन्होंने कहा कि बिहार सरकार यहां की अवाम की आंखों में धूल झोंक रही है।

इससे पहले रैली को मरकज़ ज़ीराअत वज़ीर राधामोहन सिंह, टेलीकॉम वज़ीर रविशंकर प्रसाद, फूड सप्लाय वज़ीर रामविलास पासवान, कौशल विकास रियासती वज़ीर राजीव प्रताप रूडी, मरकज़ी वज़ीर गिरिराज सिंह, पेट्रोलियम रियासती वज़ीर धर्मेंद्र प्रधान, मरकज़ी इंसानी वसायल तरक़्क़ी रियासती वज़ीर उपेंद्र कुशवाहा, एमपी अश्विनी कुमार चौबे, साबिक़ वजीरे आला जीतनराम मांझी, एमपी शरीक बिहार भाजपा इंचार्ज सीआर पाटील, भाजपा के बिहार इंचार्ज लीडर भूपेंद्र यादव, भाजपा रियासती सदर मंगल पांडेय, साबिक़ नायब सदर सुशील कुमार मोदी, लीडर ओपोजीशन नंदकिशोर यादव ने भी खिताब किया। मंच भाजपा के क़ौमी तर्जुमान शरीक प्रोग्राम के कोंवेनर शाहनवाज हुसैन ने किया।

TOPPOPULARRECENT