Tuesday , December 12 2017

25 स्कूलों में मिड डे मिल बंद

ब्लॉक के तकरीबन 25 स्कूलों में मिड डे मिल बंद हो चुका है। एक - दो दिनों में इलाक़े के तकरीबन 85 फीसद स्कूलों में मिड डे मिल बंद होने के कगार पर है। जिसकी वजह से स्कूलों में तालिबे इल्म की मौजूदगी में भी तकरीबन 25 फीसद की गिरावट आई है। देही

ब्लॉक के तकरीबन 25 स्कूलों में मिड डे मिल बंद हो चुका है। एक – दो दिनों में इलाक़े के तकरीबन 85 फीसद स्कूलों में मिड डे मिल बंद होने के कगार पर है। जिसकी वजह से स्कूलों में तालिबे इल्म की मौजूदगी में भी तकरीबन 25 फीसद की गिरावट आई है। देही इलाकों के स्कूलों में मिड डे मिल बंद होने से शहरी इलाक़े के स्कूलों से कहीं ज्यादा असर देखने को मिल रहा है।

इस सिलसिले में ब्लॉक तालिम ओहदेदार के पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि जल्द ही फंड की इंतेजाम हो जाएगी। उन्होंने बताया कि अब तक 15 स्कूल से इत्तिला मिली है कि मिड डे मिल बंद है। जबकि 80 फिसद स्कूल का बकाया हो गया है। हर माह स्कूलों में मिड डे मिल के लिए 250 क्विंटल चावल की जरूरत पड़ती है। जबकि गोदाम में महज़ 30 क्विंटन चावल ही है। मिड डे मिल बड़ाजुड़ी के प्रिन्सिपल कान्हाई लाल हांसदा ने बताया कि उनके स्कूल में 6 सौ से ज़्यादा तालिबे इल्म हैं। जिसमें से तकरीबन 380-390 के दरमियान ही बच्चे स्कूल आ रहे हैं। स्कूल में 22 नवंबर से ही मिड डे मिल बंद है। इसकी जानकारी वे बीआरसी को दे चुके हैं।v

TOPPOPULARRECENT