बाबरी मस्जिद विध्वंस: मुसलमानों ने मनाया काला दिवस, मस्जिद बनाने की मांग की

बाबरी मस्जिद विध्वंस: मुसलमानों ने मनाया काला दिवस, मस्जिद बनाने की मांग की

विवादित ढांचा विध्वंस की 26वीं बरसी पर इंडियन मुस्लिम लीग की ओर गांधी पार्क में धरना-प्रदर्शन करके राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा गया है। धरने की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश अध्यक्ष डॉ. गनी ने कहा कि वर्ष 1992 में हिंदुस्तान के कानून को ध्वस्त करते हुए बाबरी मस्जिद को ध्वस्त कर दिया गया था।

उस समय तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिंहराव की ओर से मुस्लिम समुदाय से मस्जिद बनाकर देने का वादा किया गया था। ज्ञापन में वादा निभाने व बाबरी मस्जिद बनाने की मांग की गई है।
विज्ञापन

धरने को संबोधित करते हुए डॉ. गनी ने कहा कि मस्जिद अल्लाह का घर है। किसी भी दशा में उसकी नौवईय्यत नहीं बदली जा सकती है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय के मसायल तब तक हल नहीं होंगे, जब तक मुस्लिम लीग सियासी तौर पर लोकसभा एवं विधानसभा में नहीं बैठेगी।

उन्होंने कहा कि सैकड़ों मंदिरों को मुगल शासकों की ओर से बनाकर हिंदुओं को दिए गए। इसकी जीती जागती मिसाल अयोध्या की हनुमानगढ़ी है।

उन्होंने कहा कि हिंदू समुदाय के लोग अब बाबरी मस्जिद का निर्माण कराकर बड़प्पन का सबूत दें। इस मौके पर मौलाना फजलुद्दीन मौ. कारी अब्दुल वहीद, हाजी नजीर, हसीनउद्दीन मेराज अहमद, हाफिज मो. उस्मान, इंजीनियर अली आदि मौजूद रहे।

साभार- ‘अमर उजाला’

Top Stories