3 महीने में न्याय नहीं मिला तो कर लेंगे आत्महत्या : गैंगरेप पीड़ित परिवार

3 महीने में न्याय नहीं मिला तो कर लेंगे आत्महत्या : गैंगरेप पीड़ित परिवार
Click for full image

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर क्षेत्र में बंदूक की नोक पर 13-वर्षीय लड़की और उसकी माँ के साथ गैंगरेप किये जाने के बाद पीड़ित परिवार ने धमकी दी है कि अगर आरोपियों को तीन महीने के भीतर सज़ा नहीं दी गयी तो परिवार आत्महत्या कर लेगा |

नाबालिग पीड़िता के पिता, जो एक टैक्सी ड्राइवर हैं ने कहा कि हमें पीटा गया,लूटा गया हमारे परिवार की महिलाओं के साथ रेप किया गया हम चाहते हैं कि आरोपियों को तीन महीने के भीतर सज़ा दी जाए वर्ना हम आत्महत्या कर लेंगे |

शुक्रवार की रात अपने टैक्सी ड्राइवर अपने परिवार के साथ कार से नोएडा से शाहजहांपुर जा रहे थे | बुलंदशहर में एनएच 91 पर सात-आठ लुटेरों ने परिवार के साथ मारपीट करते हुए उनके साथ लूटपाट कर हाथ पैर बंध दिए ड्राइवर की पत्नी और बेटी को कार से बाहर खींचकर बन्दूक की नोक पर उनके साथ गैंगरेप किया |

नाबालिग़ पीड़िता के पिता ने आरोप लगाते हुए कहा कि हमने पुलिस कंट्रोल रूम से मदद मांगने के लिए कई बार 100 नंबर डायल किया लेकिन वहां से कोई रेस्पोंस नहीं मिला |

उत्तर प्रदेश पुलिस ने इस मामले कल तीन आरोपियों नरेश(25), बबलू (22) और रईस (28) को गिरफ़्तार किया और   संदेह के आधार पर एक दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में ले लिया |

इस मामले में विपक्ष की आलोचना का सामना कर रही , राज्य सरकार ने पांच पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया, जिसमें जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्णा भी शामिल हैं ।

ये मामला कल लोकसभा में भी गूंजा, भाजपा सदस्यों कानून और व्यवस्था की स्थिति पर उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इस्तीफे की मांग की थी।

 

इस बीच, राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने नाबालिग पीड़िता की मेडिकल जांच के दौरान भद्दे सवाल मालूम करने वाले डॉक्टर को तलब करने के साथ इस मामले में एफ़आईआर में POCSO अधिनियम की धाराएँ नहीं शामिल करने के लिए पुलिस की भी खिंचाई की |

Top Stories