Saturday , December 16 2017

357 अधिकारी और 24 आईएएस ऑफिसर्स के खिलाफ कार्रवाई

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने प्रबंधन को बेहतर बनाने के लिए कड़े कदम शुरू किए हैं। खराब सर्विस रिकॉर्ड रखने वाले 357 अधिकारियों और 24 आईएएस के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। मंत्रालय पर्सन‌ल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मोदी सरकार ने खराब सर्विस रिकॉर्ड रखने वाले सरकारी आला ओहदेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने का फैसला किया है।

इस कार्रवाई में समय से पहले सेवानिवृत्ति और उनके तनख़ह‌ में कटौती शामिल है। जिन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है उनमें 381 सियोल सर्विसेस‌ अधिकारी हैं। इनमें 24 आईएएस अधिकारी भी शामिल हैं। उनके खिलाफ खराब प्रदर्शन या कर्तव्यों पहलूतही और अवैध गतिविधियों में शामिल होने जैसे आरोप हैं।

नौकरशाही को जवाबदे बनाने को सुनिश्चित करने के लिए मोदी सरकार ने बेहतर प्रदर्शन मे दो शर्तें रखी हैं। एक शर्त ईमानदारी और दूसरी प्रदर्शन है। सुशासन का लक्ष्य पूरा करने के लिए इन दो नियमों का पालन करना होगा। जवाबदेही की भावना ब्यूरोक्रेसी में मनमुटाव सरकार का उद्देश्य है। 2953 ऑल इंडिया सर्विसेस‌ सहित 11828 ग्रुप ऑफ ऑफिसर्स के रिकॉर्ड की समीक्षा की गई है, जिसमें 19717 ग्रुप बी ऑफिसर्स के सर्विस रिकॉर्ड से पता चला है कि यह लोग अपने दूर नौकरी के दौरान भ्रष्टाचार में लिप्त रहे हैं।

प्रधानमंत्री को पेशकश रिपोर्ट 381 नौकरशाहों के खिलाफ की गई कार्रवाई की जानकारी प्रदान की गई है। 21 सियोल सर्विस‌ जिसमें 10 आईएएस अधिकारी को नौकरी से हटा दिया गया है।

TOPPOPULARRECENT