कोरोना मरीजों का इलाज करते हुए 36 साल की नर्स नसरीन की हुई मौत

कोरोना मरीजों का इलाज करते हुए 36 साल की नर्स नसरीन की हुई मौत

कोरोना वायरस तेजी से दुनिया के लगभग हर देश में पहुंच चुका है। वायरस का केंद्र रहे चीन में जहां हालात धीरे-धीरे पटरी पर आ रहे हैं, वही दुनिया के बाकी हिस्सों में इस जानलेवा वायरस ने तबाही मचा रखी है। आलम यह है कि अमेरिका, स्पेन, इटली और जर्मनी में चीन से ज्यादा मामले सामने आ चुके है। दुनिया में संक्रमितों की सबसे ज्यादा संख्या अमेरिका में है, जो इस महामारी का दंश झेल रहा है।

यहां कोरोना वायरस से लड़ने के लिए डॉक्टर और नर्सें मोर्चा संभाले हुए हैं। ये डॉक्टर और नर्सें यह जानते हुए भी मरीजों के इलाज में लगे हैं कि अगर जरा सी लापरवाही हुई तो वे भी इस जानलेवा बीमारी की चपेट में आ जाएंगे। अमेरिका के केंट में पिछली दो अप्रैल को कोरोना पेसेन्‍ट का इलाज के दौरान कोरोना की शिकार हुई एक और नर्स की मौत हो गई। ये केंट में पिछले 24 घंटे में दूसरी मौत थी। इससे पहले भी एक नर्स की कोरोना के कारण मौत हो चुकी हैं। सबसे बड़ी दुखद बात ये है कि केंट के एलिजाबेथ हास्पिटल में काम करने वाली इस नर्स के अलावा पहले अन्‍य अस्‍पताल में मरने वाली नर्स दोनों की तीन-तीन बेटियां हैं। इलाज के दौरान इनकी मौत उसी अस्‍पताल में हुई जिस अस्‍पताल में ये कार्यरत थी।

बता दें एइमी ओरोरकी नामक नर्स पिछले कई दिनों से द क्ववीन एलिजाबेथ हास्पिटल मार्गेट केंट में भर्ती कोरोना के मरीजों की सेवा कर रही थी और इसी दौरान वो कोराना वायरस की शिकार हुई और तबियत बिगड़ने पर उसको उसी अस्‍पताल में भर्ती करवाया गया था जहां उसकी मौत हो गई।

मालूम हो कि अइमी नर्स के पहले एक दूसरे अस्‍पताल की 36 वर्षीय अरीमा नसरीन नामक नर्स की भी कोरोना पॉजिटिव होने के बाद महज चंद दिनों में मौत हो गई। इन दोनों नर्सों की मौत के बाद अमेरिका के अस्‍पतालों में कार्यरत नर्स ही नहीं डाक्टर सदमें में आ चुके हैं वो कोरोना के मरीजों का इलाज करने से बच रहे हैं। इन दोनों ही नर्सों की मौत के बाद सबसे अधिक सदमें में उनकी बेटियां हैं।

Top Stories