37 मुस्लिम खानदान ने अपनाया हिंदू मज़हब

37 मुस्लिम खानदान ने अपनाया हिंदू मज़हब
कबाड़ का काम करने वाले 37 मुस्लिम खानदान के करीब सौ लोगों ने बाकयदा हवन-पूजन के साथ हिंदू मज़हब अपना लिया। इनकी कलाई पर कलावा बांधने के बाद माथे पर तिलक लगाया गया।

कबाड़ का काम करने वाले 37 मुस्लिम खानदान के करीब सौ लोगों ने बाकयदा हवन-पूजन के साथ हिंदू मज़हब अपना लिया। इनकी कलाई पर कलावा बांधने के बाद माथे पर तिलक लगाया गया।

इनमें से ज़्यादतर कोलकाता के हैं जो पिछले कई साल से देवरी रोड वाके देव नगर के पीछे बस्ती में रह रहे हैं। इनमें से कुछ के वालिद या दादा ने मज़हब तब्दील कर मुस्लिम मज़हब अपना लिया था।

प्रोग्राम में मौजूद मुस्लिम लोगों का कहना था कि उनका सभी मज़हब में अकीदा है। हिंदू मज़हब की कुछ बातें उन्हें अच्छी लगीं। वहीं, कुछ लोगों का कहना था कि उनके वालिद या दादा हिंदू थे। मज़हब की तब्दीली के बाद उन्होंने मुस्लिम मज़हब अपना लिया था। वह हिंदू मज़हब अपनाकर घर वापसी कर रहे हैं। अब इन लोगों के नाम बदलने की कवायद की जा रही है

धर्म जागरण के चीफ राजेश्वर सिंह का कहना है कि कई मुस्लिम खानदान ने हिंदू मज़हब अपनाया है। इससे पहले ईसाइयों ने हिंदू मज़हब अपनाया था। जहां मज़हब की तब्दीली हुई है उस बस्ती का ठेकेदार इस्माइल है। उसकी बात सभी लोग मानते हैं। इस्माइल का कहना है कि हिंदू मज़हब की मालूमात होने पर उसकी इससे जुड़ने की खाहिश हुई।

हिंदू मज़हब अपनाने के दौरान 40 साला हुमायूं ने बताया कि मेरे वालिद मुस्लिम थे। अब मैं हिंदू मज़हब अपना रहा हूं। सभी मज़हबो में मेरा यकीन है।

सीनीयर एडवोकेट अचल शर्मा के मुतबैक अगर कोई व्यक्ति मज़हब बदलता है तो किसी फायदा के ओहदा या कानूनी अमल के लिए उसे इस ताल्लुक में एक हलफनामा देना होगा। साथ ही मज़हब तब्दील कराने वाले आचार्य या शास्त्री का बयान कोर्ट में कराना होगा।

वोटर आई डी कार्ड में तब्दीली के लिए भी उसे इलेक्शन कमीशन में मज़हब की तब्दीली के ताल्लुक में हलफनामा के साथ-साथ, मज़हब तब्दील कराने वाले की तरफ से भी हलफनामा दिलवाना होगा।

Top Stories