Wednesday , January 24 2018

37 हज़ार वक़्फ़ जाइदादों में से सिर्फ़ 4 हज़ार जाइदादों से फ़ंड की वसूली

हैदराबाद 01 मई: आंध्रा प्रदेश में तक़रीबन 37 हज़ार इदारे हैं लेकिन आमदनी के लिहाज़ से सिर्फ़ चार हज़ार इदारे ऐसे हैं जिनसे वक़्फ़ बोर्ड को 7 फ़ीसद फ़ंड हासिल होता है।

हैदराबाद 01 मई: आंध्रा प्रदेश में तक़रीबन 37 हज़ार इदारे हैं लेकिन आमदनी के लिहाज़ से सिर्फ़ चार हज़ार इदारे ऐसे हैं जिनसे वक़्फ़ बोर्ड को 7 फ़ीसद फ़ंड हासिल होता है।

बताया जाता है कि बेशतर वक़्फ़ इदारों की आमदनी बहुत ज़्यादा है मगर मतोलयान और इंतिज़ामी कमेटियां फ़ंड अदा करने से गुरेज़ करती हैं। रियास्ती वक़्फ़ बोर्ड के सदर नशीन के मुताबिक़ ख़ुद शहर हैदराबाद में कई ऐसे इदारे हैं जो वाजिब अदा वक़्फ़ फ़ंड अदा नहीं कर रहे हैं और बोर्ड ऐसे इदारों के मुंतज़मीन के ख़िलाफ़ भी क़ानूनी कार्रवाई करने पर ग़ौर कर रहा है।

सदर वक़्फ़ ने मज़ीद बताया कि रियासत भर में तमाम वक़्फ़ इन्सपैक्टर उनको हिदायत दी गई है कि वो ऐसे इदारों की फेहरिस्त तैयार करे जिन्हें ज्यादा आमदनी वसूल होती है लेकिन वो वक़्फ़ फ़ंड अदा नहीं करते।

लिखने वाले से बातचीत करते हुए ख़ुसरू पाशाह ने ये भी बताया कि वक़्फ़ फ़ंड और किरायों की अदायगी में नाकाम किराया दारों और मुतवल्लियों‍ व इंतिज़ामी कमेटीयों के ओहदेदारों को ग़ैरत दिलाने के लिए वो मीडया का सहारा लेंगे ताकि मुस्लमानों की जायदादों और उनके फाइदा का हिफाजत‌ किया जाय।

TOPPOPULARRECENT