Thursday , December 14 2017

40 साल से लोगों को चाय पिलाने वाले मौलाना

हिंदुस्तान में कुछ चाय वाले आज बड़े ओहदों पर फ़ाइज़ हो चुके हैं जोकि एक अच्छी बात है लेकिन मुल्क में आज भी ऐसे हज़ारों चाय वाले मौजूद हैं जिन की ज़िंदगीयां ग़ुर्बत की मुँह बोलती तस्वीर हैं।

हिंदुस्तान में कुछ चाय वाले आज बड़े ओहदों पर फ़ाइज़ हो चुके हैं जोकि एक अच्छी बात है लेकिन मुल्क में आज भी ऐसे हज़ारों चाय वाले मौजूद हैं जिन की ज़िंदगीयां ग़ुर्बत की मुँह बोलती तस्वीर हैं।

बरसों गुज़र जाने, जवानी और ताक़त और तवानाई सर्फ़ कर देने के बावजूद उन्हें बुढ़ापे में चाय ही फ़रोख़्त करनी पड़ रही है। इन ही ग़रीब और ग़ुर्बत की वजह से बुढ़ापे में भी मेहनत करने पर मजबूर होने वालों में 77 साला मुहम्मद मौलाना भी हैं जोकि गुज़िश्ता 40 बरसों से किंग कोठी की दुकानात में थरमास और प्यालियां हाथ में उठाए चाय फ़रोख़्त करते हैं।

ये सिलसिला गुज़िश्ता 40 बरसों से जारी है। मुहम्मद मौलाना ने मज़ीद कहा कि वो सुबह 8 ता रात 9 बजे तक सख़्त मेहनत करते हैं जिस के बाद उन्हें 200 ता 250 रुपये की आमदनी होती है। मौलाना उस वक़्त से चाय फ़रोख़्त कर रहे हैं जब चाय की क़ीमत 15 पैसे थी और आज चाय की क़ीमत 10 रुपये हो चुकी है।

TOPPOPULARRECENT