Monday , December 11 2017

तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में 60 दिनों में 50 छात्रों की आत्महत्या से सनसनी

हैदराबाद: दो महीने से कम समय में छात्रों की आत्महत्या के 50 घटनायें, दोनों तेलुगु राज्यों तेलंगाना और एपी की तरीक हकीकत है। कॉलेज प्रशासन के दबाव को सहन न कर पाने की वजह से इन छात्रों ने ऐसा किया। व्यापार शैली के यह शिक्षण संस्थान छात्रों को परीक्षा में सफल करवाने के दावे तो करते हैं लेकिन यह संस्था जीवन जीने का अधिकार देने में असफल हो गए हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

क्योंकि उनके दबाव से तंग आकर ही छात्रों की आत्महत्या के कई घटनाएं सामने आई हैं। ऐसे ही एक कॉरपोरेट शैली के कॉलेज के क्लास में एक शिक्षक की ओर से छात्र के पिटाई का एक वीडियो वायरल हुआ है। जिस का वीडियो एक छात्र द्वारा गुप्त रूप से फिल्माया गया है।

इस वीडियो में दिखाया गया है कि शिक्षक छात्र को उनके साथियों के सामने बुरी तरह पिटाई कर रहा है। बेहतर शैक्षिक प्रदर्शन के लिए दबाव के नतीजे में ही छात्र आत्महत्या जैसे रास्ते को अपना रहा है। आत्महत्या करने वाले इन छात्रों ने डॉक्टर इंजीनियर बनने का सपना लिए ऐसे इन कॉर्पोरेट शैली के शिक्षण संस्थानों में दाखिला लिया था। लेकिन बेहतर शैक्षिक प्रदर्शन के लिए उन्हें कॉर्पोरेट शैली शैक्षिक संस्थानों के दबाव के माहौल को सहन न करते हुए इन छात्रों ने यह खौफनाक कदम उठाया है।

TOPPOPULARRECENT