Monday , December 18 2017

610 किलो वज़नी नौजवान दो बरस से घर पर कैद रहने पर मजबूर

बीस बरस का एक नौजवान जो ग़ैरमामूली हद तक मोटापे में मुबतला होने की वजह से पिछले दो सालों से अपने घर पर महसूर होकर रह गया था, उसे दूसरी मंज़िल पर वाक़े इस के घर से कल फ़ोर्क लिफ़्ट के ज़रीए उतारा गया।

बीस बरस का एक नौजवान जो ग़ैरमामूली हद तक मोटापे में मुबतला होने की वजह से पिछले दो सालों से अपने घर पर महसूर होकर रह गया था, उसे दूसरी मंज़िल पर वाक़े इस के घर से कल फ़ोर्क लिफ़्ट के ज़रीए उतारा गया।

सऊदी अरब के सूबे जाज़ान के दारुल हुकूमत में होने वाली इस कार्रवाई में वज़ारते सेहत, शहरी दिफ़ा और फ़ौजीयों ने हिस्सा लिया। ख़ालिद मुहसिन शेअरी नामी उस नौजवान का वज़न 610 किलोग्राम है, उसे रियाज़ से एक ख़ुसूसी तैयारे के ज़रीए मेडिकल टीम के हमराह ईलाज के लिए किंग फ़हद मेडिकल सिटी ले जाया गया।

सऊदी अरब के वज़ीरे सेहत अबदुल्लाह अल रबीअ ने इतवार को एलान किया था कि सऊदी अरब के शाह अबदुल्लाह ने हिदायत की थी ख़ालिद मुहसिन को इस के घर से बहिफ़ाज़त निकालने के बाद इस का किंग फ़हद मेडिकल सिटी में ऑप्रेशन किया जाए। इस के तमाम अख़राजात शाह अबदुल्लाह ने अपने ज़िम्मे ली हैं।

TOPPOPULARRECENT