Tuesday , December 19 2017

7वीं में पढ़ने वाली तालिबा को असातिज़ा ने बनाया यरगमाल, दो हफ्ते तक करता रहा इस्मतरेज़ि

बेतिया में असातिज़ा अपने ही स्कूल की एक तालिबा को यरगमाल बनाकर उसके साथ दो हफ्ते तक इस्मतरेज़ि करता रहा। वाकिया नौतन थाना के डबरिया मिडिल स्कूल की है। असातिज़ा तालिबा को स्कूल के किचेन शेड के पीछे एक कमरे में यरगमाल बनाकर रखे हुए था।

बेतिया में असातिज़ा अपने ही स्कूल की एक तालिबा को यरगमाल बनाकर उसके साथ दो हफ्ते तक इस्मतरेज़ि करता रहा। वाकिया नौतन थाना के डबरिया मिडिल स्कूल की है। असातिज़ा तालिबा को स्कूल के किचेन शेड के पीछे एक कमरे में यरगमाल बनाकर रखे हुए था। पीर को गुस्साये लोगों ने असातिज़ा को पहले जमकर धुनाई की उसके बाद पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने तालिबा के वालिद के बयान पर सनाह दर्ज कर मुल्ज़िम असातिज़ा को जेल भेज दिया है।

तालिबा का इल्ज़ाम

डबरिया मिडिल स्कूल में सातवीं की तालिबा का इल्ज़ाम है कि वैशाली का रहने वाला असातिज़ा गौरीशंकर राय उसके स्कूल में पढ़ाता है। वह स्कूल अहाते में ही रहता है। असातिज़ा ने चार अक्टूबर को स्कूल बंद होने के बाद उसे बहला-फुसलाकर पहले किचन शेड के पीछे उस कमरे में ले गया, जहां जलाने के लिए इस्तेमाल होने वाली लकड़ियां रखी जाती हैं। फिर उसे यरगमाल बना लिया। लड़की का इल्ज़ाम है कि असातिज़ा उसे रोजाना पहले नशे की दवा खिलाया करता था और फिर इस्मतरेज़ि करता था। सनीचर को कुछ गाँव वालों ने तालिबा को में कमरे में देखा। गाँव के लोग जब उसके पास गए तो मुतासिरा ने उन्हें आपबीती सुनाई। इसके बाद गाँव वालों ने उसे आज़ाद कराया। थाना सदर सम्राट दीपक ने बताया कि तालिबा के वालिद के बयान पर असातिज़ा के खिलाफ सनाह दर्ज कर उसे जेल भेज दिया गया है।

TOPPOPULARRECENT