Wednesday , December 13 2017

70 लाख में स्मृति ईरानी ने सजाया था अपना दफ्तर, RTI से हुआ खुलासा

नई दिल्ली : स्मृति ईरानी जब मानव संसाधन विकास मंत्री थीं, तब उन्होंने अपने दफ्तर को सजाने में तकरीब 70 लाख खर्च कर दिए। उन्होंने और उनके दो जूनियर मंत्रियों के ऑफिस के रेनोवेशन पर 1.16 करोड़ रुपए खर्च किए थे। दो राज्य मंत्रियों के दफ्तरों पर लगभग 40 लाख रुपए लगाए। स्मृति के दफ्तर के रेनोवेशन में हुए खर्च का बड़ा हिस्सा एक नए कॉन्फ्रेंस रूम में गया। आरटीआई से हुए खुलासे में यह बात सामने आई है कि मोदी सरकार के पहले दो साल में स्मृति समेत 23 मंत्रियों ने दफ्तर सजाने यानी रेनोवेशन पर करीब 3.5 करोड़ रुपये खर्च किए। इनमें वे भी हैं जिन्हें कैबिनेट से बाहर कर दिया गया या फिर विभाग बदले गए थे।

बहरहाल,चौधरी वीरेंद्र सिंह के ग्रामीण विकास मंत्री रहने के दौरान फ्लोरिंग और सीलिंग पर करीब 70 लाख रुपए खर्च किए गए। स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने 22.37 लाख रुपये खर्च करवाए। सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राठौड़, रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर और खान राज्य मंत्री विष्णु देव ने रेनोवेशन पर खर्च किया, लेकिन उनके सीनियर मंत्रियों ने ऐसा नहीं किया।

पूर्व अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नजमा हेपतुल्ला ने कोई खर्च नहीं किया, जबकि उस वक्त उनके जूनियर मंत्री रहे मुख्तार अब्बास नकवी ने करीब 14 लाख रुपये खर्च किए। इसमें से 7000 रुपये डस्टबिन पर लगे। 23 खर्चीले मंत्रियों में स्मृति ईरानी, राज्यवद्र्धन सिंह राठौड़, चौ. वीरेंद्र सिंह, उपेंद्र कुशवाहा, रामशंकर कठेरिया, जेपी नड्डा, सांवरलाल जाट और जितेंद्र सिंह हैं।

TOPPOPULARRECENT