70 हजार करोड़ रुपये की लागत से 50 हज़ार किलोमीटर लंबे जल मोर्चे का गठन: गडकरी

70 हजार करोड़ रुपये की लागत से 50 हज़ार किलोमीटर लंबे जल मोर्चे का गठन: गडकरी

नई दिल्ली:हुकूमत मुल्क के 50हज़ार किलोमीटर लंबे समुंद्री और दरियाई महाज़ पर जल गुज़रगाहैं तामीर करेगी और ये अनोखी गुज़रगाहैं तक़रीबन 70 हज़ार करोड़ रुपये लागत की होंगी।

उनके ज़रिये पहले मरहला में काफी दूरी तय किया जा सकेगा। इस अहम बिल को पार्लियामेंट की मंज़ूरी बाक़ी है। मंज़ूरी के बाद मुल्क गीर सतह पर 111 दरियाओं को क़ौमी जल गुज़रगाह क़रार दिया जाएगा और उनके रास्ते से बार-बरदारी और सफ़र की सहूलतें फ़राहम की जाएँगी।

जल महाज़ दरियाओं के किनारे 7500 किलोमीटर और साहिलों पर 14,500 किलोमीटर तवील होगा। पार्लियामेंट की तरफ‌ से इस की मंज़ूरी हासिल हो चुकी है। जल्द ही जल महाज़ का क़ियाम अमल म‌नाएगा । बजट में इस के लिए रक़म मुख़तस करने पर प्रोजेक्ट का आग़ाज़ हो जाएगा। मर्कज़ी वज़ीर बराए हमल विंकल-ओ-शवारा नितिन गडकरी ने ऐलान किया|

Top Stories