आरक्षण का 70 साल में कोई लाभ नहीं हुआ : खेहर

आरक्षण का 70 साल में कोई लाभ नहीं हुआ : खेहर

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस जगदीश सिंह खेहर ने देश में आरक्षण पर सवाल उठाते हुए कहा है कि इससे पिछले 70 साल में कोई फायदा नहीं हुआ है और हालात जस के तस बने हुए हैं।

यहां आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने यह विचार रखे। उन्होंने कहा कि मसावात का सम्बन्ध इन्साफ से है और यह तभी मुमकिन हो सकता है जब इन्साफ किया जाए। एक इंसान को दूसरे इंसान के काम आना चाहिए, यही इंसानियत भी है।

कार्यक्रम के एक अन्य अतिथि सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस ई अहमदी ने अपनी बात रखते हुए कहा कि बुनियादी अधिकारों के सवाल पर लोग ठीक से समझ नहीं पाते हैं जबकि यही वह आर्टिकल है जो हमें हमारे बुनियादी अधिकार दिलवाने में अहम् भूमिका निभाते हैं।

अदालतों को सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि वो अपनी जिम्मेदारी से बचने की कोशिश नहीं करें। कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री के रहमान खान, प्रोफ़ेसर उमर हसन समेत कई अतिथि भी उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत में मौलाना अब्दुल्लाह तारिक ने कुरआन का पठन किया वहीँ आईओएस के चैयरमेन डाक्टर मंजूर आलम ने स्वागत भाषण दिया।

पूर्व केंद्रीय मंत्री के रहमान खान समेत अन्य अतिथियों ने भी अपने विचार रखे। कार्यक्रम में स्वामी अग्निवेश, हज कमिटी के पूर्व चैयरमेन परवेज मिया समेत देश भर से आये अनेक बुद्धिजीवी भी उपस्थित थे।

Top Stories