Thursday , December 14 2017

700 छंटनी मुतासिर अहलकारों को नौकरी

पटना 6 जुलाई : मर्दम शुमारी, 1991 के छंटनी मुतासिर करीब 700 अहलकारों का रियासत हुकूमत की सर्विस में एडजस्टमेंट होगा। हुकूमत ने सुप्रीम कोर्ट के हुक्म के बाद यह फैसला लिया है। इस सिलसिले में आमदनी और ज़मीं को बेहतर बनाने की लिए महकमा ने न

पटना 6 जुलाई : मर्दम शुमारी, 1991 के छंटनी मुतासिर करीब 700 अहलकारों का रियासत हुकूमत की सर्विस में एडजस्टमेंट होगा। हुकूमत ने सुप्रीम कोर्ट के हुक्म के बाद यह फैसला लिया है। इस सिलसिले में आमदनी और ज़मीं को बेहतर बनाने की लिए महकमा ने नोटिफिकेशन जारी कर दी है।

उम्र में मिलेगी छूट

मर्दम शुमारी के लिए 1991 में मुआय्ह्दे पर तकरीबन 700 अहलकारों की तक़र्रुरि हुई थी। मर्दम शुमारी के बाद इनकी सर्विस ख़त्म कर दी गयी। इसके खिलाफ मर्दम शुमारी मुलाज्मिन ने अदालत का दरवाजा खटखटाया। अदलत ने फैसला दिया कि इन छंटनी मुतासिर मुलाज्मिन को उनकी काबलियत के मुताबिक मुस्तकबिल में खली ओहदों पर तक़र्रुरी किया जाये। साथ ही उम्रसीमा में भी छूट देने की बात कही। अदालत की हिदायत पर रियासत हुकुमत ने तय किया कि छंट मुतासिर मुलाज्मिन खली होनेवाले ओहदों पर काबलियत दरख्वास्त दे सकते हैं। दर्ख्वत पर मुक़र्रर नियम और अमल के मुताबिक हुकूमत गौर करेगी।

उम्रसीमा में एक बार की छूट दी जायेगी। हालांकि, यह देखा जायेगा कि मर्दम शुमारी दफ्तर में मुक़र्रर के समय उनकी उम्र निर्धारित सीमा के अंदर थी। नियोजनालय में नाम पुन: दर्ज कर लिया जायेगा, जो मर्दम शुमारी दफ्तर में अपनी तक़र्रुरी के वक़्त रेगिस्त्रेड थे। मर्दम शुमारी के छंटनी मुताज़िर वैसे अहलकारों के नाम भी रेगिस्तेर्द कर लिये जायेंगे, जो मज्कुरह दफ्तर में अपनी तक़र्रुरी के वक़्त रजिस्ट्रेशन नहीं थे। रजिस्ट्रेशन दर्ख्वत गाह को मुस्तकबिल में होनेवाली सरकारी मुक़र्रर में नाम खाने की चीजों में नियोजनालयों तरफ से सनाह दर्ज की जायेगी।

TOPPOPULARRECENT