74 साल की उम्र में माँ बनने वाली महिला और डाक्टरों को आलोचनाओ का सामना

74 साल की उम्र में माँ बनने वाली महिला और डाक्टरों को आलोचनाओ का सामना

हैदराबाद: आंध्र प्रदेश के गुंटूर में जारीया हफ़्ता जुड़वां बच्चों को जन्म देने वाली 74 वर्षीय महिला पर आलोचनाए शुरू हो गई हैं ये आलोचना समाज की तरफ़ से नहीं बल्कि डाक्टरों की अलग अलग संगठनों की ओर से की जा रही हैं और इस को अनौपचारिक प्रक्रिया क़रार दिया गया है याद रहे कि चार दिन पहले मंगमां नामी 74 वर्षीय महिला को गुंटूर के एक हॉस्पिटल ने कृत्रिम रूप से गर्भवती करते हुए उसे दो बच्चों की माँ बनाते हुए आलमी रिकार्ड पैदा करने का दावा किया
था ।

इस घटना पर इंडियन सोसाइटी फ़ार असिस्टड री प्रोडक्शन के अध्यक्ष डाक्टर जय दीप मल्होत्रा के अलावा कई डाक्टरों ने जहां बिमार लोगो के हाँ बच्चे की पैदाइश पर एतराज़ किया है वहीं बच्चे के भविष्य पर भी चिंता का इज़हार किया है अगर इसे सोशल मीडिया पर हैरत और रिकार्ड के तौर पर भी देखा जा रहा है। डाक्टर जय दीप मल्होत्रा ने कहा कि हम इंडिया में सेहत के क्षेत्र से लोगो ने अपने हमपेशा और अन्य पेशा-वर ओलो से अपील करते हैं कि इस किस्म केअनौपचारिक प्रक्रिया से परहेज़ करें जिसमें मरीज़ की ज़िंदगी और उनके बच्चों का भविष्य ख़तरे में हो।

Top Stories