8 वीं जमात कामयाब माँ के 3 बच्चे आई ए एस ऑफिसर्स

8 वीं जमात कामयाब माँ के 3 बच्चे आई ए एस ऑफिसर्स
हरियाणा की मायादेवी को तमाम उम्र काफ़ी जद्द-ओ-जहद के बाद ख़ुशी-ओ-राहत नसीब

हरियाणा की मायादेवी को तमाम उम्र काफ़ी जद्द-ओ-जहद के बाद ख़ुशी-ओ-राहत नसीब

बच्चों को तालीम-ए-याफ़ता बनाने का ख़ाब जब पूरा होता है तो यक़ीनन वालदैन को ख़ासकर माँ की ख़ुशी की कोई इंतेहा नहीं होती। हरियाणा के इलाक़ा रोहतक में आठवीं जमात तक तालीम हासिल करनेवाली माया देवी एक पसमांदा तबक़े से ताल्लुक़ रखती हैं।

उन के वालिद विश्वा बन्धू किसान थे। उन्होंने आज अपने 3 बच्चों को आई ए एस ऑफिसर्स होते हुए देखा है। तमाम उम्र जद्द-ओ-जहद के बाद किसी तरह से अपने बच्चों को आला तालीम के लिए दिल्ली रवाना किया था।

आज वो दुनिया की सब से ख़ुशनसीब ख़ातून और माँ बिन गई हैं। चहारशंबे के दिन यूनीयन पब्लिक सरविस कमीशन ने नताइज का ऐलान किया था। उन्हें मालूम हुआ कि उन की दुख़तर पूजा और उन के फ़र्ज़ंद लोक बन्धू ने आई ए एस का इम्तेहान कामयाब करलिया है जिस के बाद बरसों के ख़ाब की ताबीर होगी।

माया देवी की बड़ी दुख़तर क्रांति ने पहले ही यू पी एस सी इम्तेहान कामयाब करलिया है। अब वो मुंबई में इनकम टैक्स डिपार्टमैंट में डिप्टी कमिशनर की हैसियत से ख़िदमत अंजाम दे रही हैं। माया देवी ने बताया कि जब उनकी बड़ी बेटी 5 वीं जमात में पढ़ रही थी तब ही उन्होंने तहय्या करलिया था कि वो अपने बच्चों को आई ए एस ऑफिसर्स बनाईंगी|

Top Stories