800 करोड़ के घोटाले में CBI ने रोटोमैक के मालिक को किया गिरफ्तार

800 करोड़ के घोटाले में CBI ने रोटोमैक के मालिक को किया गिरफ्तार
Click for full image

कानपुर। बैंक ऑफ बड़ौदा की शिकायत पर सीबीआई ने रोटोमैक पेन के प्रमोटर विक्रम कोठारी के खिलाफ 800 करोड़ रुपये के लोन का भुगतान नहीं करने का मामला दर्ज किया है।

इसपर कार्रवाई करते हुए सीबीआई ने विक्रम कोठारी के कानपुर स्थित दफ्तर और आवासीय परिसरों पर छापेमारी शुरू कर दी है। वहीं विक्रम कोठारी, उनकी पत्‍नी और बेटे को हिरासत में लेकर सीबीआई पूछताछ कर रही है।

हीरा कारोबारी नीरव मोदी के पीएनबी स्‍कैम के बाद विक्रम कोठारी ने विभिन्न बैंकों को 800 करोड़ रुपये का चूना लगाया है। कोठारी रोटोमैक पेन कंपनी के प्रवर्तक हैं।

कोठारी पर इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया समेत कई सार्वजनिक बैंकों को नुकसान पहुंचाने का आरोप है। कानपुर के कारोबारी कोठारी ने पांच सार्वजनिक बैंकों से 800 करोड़ रुपये से अधिक का लोन लिया था।

जानकारों के अनुसार विक्रम कोठारी को लोन देने में इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा, इंडियन ओवरसीज बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने नियमों के पालन में ढिलाई की। कोठारी ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से 485 करोड़ रुपये और इलाहाबाद बैंक से 352 करोड़ रुपये का लोन लिया था।

Top Stories