Friday , September 21 2018

800 सौ साला क़दीम दरख़्त फरोख्त के लिए पेश

हैदराबाद 10 मार्च (सियासत न्यूज़) ये ख़बर सुन कर शायद आप को हैरत हो रही होगी कि आठ सौ साला दरख़्त आज भी कैसे मौजूद हो सकता है लेकिन ये हक़ीक़त है कि हैदराबाद में एक ऐसा दरख़्त है जो 800 साला क़दीम है।

हैदराबाद 10 मार्च (सियासत न्यूज़) ये ख़बर सुन कर शायद आप को हैरत हो रही होगी कि आठ सौ साला दरख़्त आज भी कैसे मौजूद हो सकता है लेकिन ये हक़ीक़त है कि हैदराबाद में एक ऐसा दरख़्त है जो 800 साला क़दीम है।

800 साल कब्ल जब स्पेन के बड़े हिस्से में मुस्लिम ख़िलाफ़त की हुक्मरानी थी इस दौर में आइबीरीयन पेनीसोला में उगा एक “वाईट आलियोट्री” हज़ारों किलो मीटर का सफ़र तए करते हुए निज़ाम के शहर हैदराबाद आ पहुंचा। इस इंपोर्टेड दरख़्त को ख़रीदने के लिए मुतअद्दिद नवाबीन खड़े हैं।

इस आलियोट्री के इलावा हैदराबाद के बैरूनी इलाक़े में तक़रीबन 250 एकड़ पर मुश्तमिल तामीर शूदा ख़ास मुक़ाम पर इस तरह के कई ग़ैर मुल्की प्लांट रखे गए हैं। इस तरह के दरख़्तों का कारोबार करनेवाली कंपनी यूनीक ट्रीज ने साल 2011 में वज़ारत ज़राअत से इम्पोर्ट लाईसेंस हासिल करने इन प्लांट्स को इम्पोर्ट किया है।

10 हज़ार ता 12 लाख रुपये तक इंपोर्टेड प्लांट फरोख्त करने वाली कंपनी यूनीक ट्रीज के ख़रीदारों की लिस्ट भी काफ़ी एहमीयत की हामिलहै। बाली वुड अदाकार शारुख़ ख़ान, मर्कज़ी वज़ीर सयाहत और फ़िल्म अदाकार चिरंजीवी और तेलूगू सूपर स्टार जूनियर एन टी आर जैसे नाम ख़रीदारों की फ़ेहरिस्त में शामिल हैं।

ज़्यादा तर मशहूर और मारूफ़ शख्सियतें ऐसे दरख़्त खरीदते हैं, जो 10 ता 800 साल तक क़दीम हों। इन प्लांट्स से पने घर की आराइश के लिए वो बड़ी से बड़ी रक़म ख़र्च करने से नहीं हिचकिचाते। एक अंदाज़ा के मुताबिक़ वो घर बनाने के मजमूई बजट का तक़रीबन 10 फ़ीसद तो लैंड स्केपिंग पर ही ख़र्च कर देते हैं।

यूनीक ट्रीज के फाउंडर आर राम देव का कहना है कि हमें फ़ोकस करना रहता है कि ऐसे प्लांट्स को इम्पोर्ट किया जाए, जो काफ़ी मज़बूत हों और उन्हें ज़ाइद निगहदाश्त की ज़रूरत ना हो। ऐसा इस लिए ताकि वो हिंदुस्तान के मौसम को बर्दाश्त कर सकें।

हम सिर्फ़ वही प्लांट्स ऑफ़र करते हैं जो कि हमारे मुल्क के मौसम के एतबार से मौज़ूं हो और गार्डन में मुसलसल देख भाल से ही काम चल जाए।

2011 में कारपोरेशन बनने वाली यूनीक ट्रीज ने गुजिश्ता माली साल में 8.5 करोड़ रुपये की सेल की थी और इस दफ़ा उन का निशाना 12 करोड़ का सेल है।
हैदराबाद में रखे गए इंपोर्टेड ट्रीज की क़ीमत तक़रीबन 30 करोड़ रुपये है।

TOPPOPULARRECENT