Saturday , December 16 2017

82 साल की जैनब बी देती हैं कुरान की तालीम, हिंदू धर्मग्रंथों का भी ज्ञान

82 वर्ष की जैनब बी दूसरों से अलग हैं। वे ऐसे बुजुर्गो के लिए मिसाल हैं। इस आयु में वे प्रतिदिन 40 से अधिक बच्चों को कुरान सहित उर्दू व अरबी भाषा की तालीम दे रही हैं। खास बात यह भी है कि उन्हें समान रूप से हिंदू धर्मग्रंथों का भी ज्ञान है। मुस्लिम समाज के बच्चे कुरान की तालीम लेने आते हैं तो मोहल्ले के हिंदू परिवार चौपाल पर बैठकर रामायण-गीता का ज्ञान लेते हैं।

जागरण में प्रकाशित खबर के मुताबिक जैनब बी बताती हैं कि उनका जन्म बड़वानी जिले के राजपुर में हुआ था और परिवार की इकलौती संतान थी। भारत-पाकिस्तान विभाजन के समय पिता यह कहकर पाकिस्तान गए थे, जल्द ही वहां कामकाज जम जाने पर आकर ले जाएंगे। हालांकि वे फिर नहीं लौट सके।

आगे कहती हैं कई जगहों पर रहने के बाद 1964 में उज्जैन आई और यहीं की होकर रह गई। सालों पहले बच्चों को पढ़ाना शुरू किया था, कब से यह ठीक से याद नहीं। कुरान के साथ ही समान रूप से हिंदू धर्मग्रंथों का भी अध्ययन किया है। तालीम हासिल कर रहे बच्चे जो कुछ भी दे देते हैं, उसी से उनका गुजारा चल जाता है।

वही स्थानीय लोगों के अनुसार जैनब बी इस उम्र में भी काफी सक्रिय रहती हैं। कोई रोग नहीं है और कभी दवाई-गोली की भी जरूरत नहीं पड़ी। बगैर चश्मे के ही पढ़ती हैं। सुबह-शाम की दो शिफ्ट में बच्चों को पढ़ाती हैं।

TOPPOPULARRECENT