AAP विधायक अमानतुल्ला खान पर तीन मामलों में आरोप तय

AAP विधायक अमानतुल्ला खान पर तीन मामलों में आरोप तय

अदालत ने आप विधायक अमानतुल्ला खान के खिलाफ सरकारी अधिकारी को धमकी, काम में बाधा और मुक्त कराए गए 15 बाल मजदूरों को छुड़ा कर ले जाने के मामले में आरोप तय कर मुकदमा चलाने का निर्देश दिया है। इस मामले में जामिया नगर थाने में एक नवंबर 2010 में एफआईआर दर्ज की गई थी।

पटियाला हाउस अदालत के एसीएमएम समर विशाल ने अमानतुल्ला व सैफुल्लाह सिद्दीकी के खिलाफ आरोप तय कर 14 दिसंबर से अभियोजन पक्ष को गवाही दर्ज कराने का निर्देश दिया है।

अदालत ने इन आरोपियों पर अपहरण के लिये उकसाने व सरकारी अधिकारियों को धमकी देने की धाराओं में आरोप तय किए हैं। इनके खिलाफ एसडीएम की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था।

दिल्ली पुलिस ने इस मामले में करीब छह साल की देरी के बाद 2016 में चार्जशीट दाखिल की थी। इसके मद्देनजर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने दोनों आरोपियों को आरोप मुक्त कर दिया था।

इस फैसले को बचपन बचाओ आंदोलन एनजीओ ने सत्र अदालत में चुनौती दी थी। सत्र अदालत ने एनजीओ की याचिका पर तीन दिसंबर को फैसला सुनाते हुए मजिस्ट्रेट कोर्ट का फैसला रद करते हुए दोबारा आरोप तय करने का निर्देश दिया था।

मामला जामिया नगर के बाटला हाउस स्थित अमानतुल्ला खान की कढ़ाई की फैक्ट्री से 15 बाल मजदूरों को मुक्त कराने से जुड़ा है।
दिल्ली पुलिस के मुताबिक बचपन बचाओ की टीम एसडीएम व पुलिस के साथ बाल मजूदरों को मुक्त कराने एक नवंबर 2010 को बाटला हाउस पहुंची थी।

अमानतुल्लाह खान समर्थकों के साथ वहां पहुंचकर मुक्त कराए गए बाल मजदूरों को छुड़ा लिया था। आप विधायक ने सरकारी अधिकारियों व एनजीओ की टीम को मारने पीटने व जान से मारने की धमकी दी थी।

साभार- ‘अमर उजाला’

Top Stories