Sunday , April 22 2018

ABVP कार्यकर्ता निकला मासूम बच्ची के दुष्कर्म-हत्या का आरोपी

शुक्रवार की शाम आगरा में  मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद बालिका की हत्या करने के आरोपी हरीश ठाकुर एबीवीपी का कार्यकर्ता बताया गया है।  वहीं एबीवीपी ने हरीश के एबीवीपी का कार्यकर्ता या सदस्य होने से इंकार किया है।

बता दें की आगरा के महात्मा गांधी मार्ग यानी सबसे व्यस्त सड़क पर मंदिर के ठीक बराबर से आगरा कॉलेज मैदान में 8 साल की मासूम बच्ची के साथ दरिंदगी हुई और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी ।

 

जब सड़क किनारे फुटपाथ पर रहने वाले रमेश की 8 साल की मासूम बच्ची लक्ष्मी अचानक बीती रात को लापता हो गई और सुबह लक्ष्मी का शव लहूलुहान हालत में आगरा कॉलेज मैदान में मिला। शव को देखकर साफ अंदाजा लगाया जा रहा था कि वहशी दरिंदे ने मासूम बच्ची के साथ दरिंदगी की है।

डा. भीमराव आंबेडकर विवि के पर एनएसयूआई के प्रदेश संयोजक पंडित अपूर्व शर्मा ने रविवार को पोस्ट डाला। इसमें बालिका से दुराचार और हत्या के आरोपी को एबीवीपी का कार्यकर्ता बताया।

अखिल के पोस्ट के बाद अपूर्व शर्मा ने और भी पोस्ट डाले। इसमें एबीवीपी के छह जुलाई 2017 के पौध रोपण कार्यक्रम की तस्वीरें डाली गईं।

इसमें हरीश एबीवीपी के पदाधिकारी दीपक ऋषि और खेरागढ़ के विधायक महेश गोयल के साथ दिख रहा है। हरीश का फेसबुक प्रोफाइल भी डाला। जिसमें हरीश ने खुद को एबीवीपी से जुड़ा बताया।  अखिल ने फिर खंडन करते हुए लिखा है कि हो सकता है कि हरीश कार्यक्रम में आ गया हो, वह संगठन का कार्यकर्ता या सदस्य नहीं

प्रोफाइल पर लिखने से कोई एबीवीपी का कार्यकर्ता नहीं हो सकता। एबीवीपी के महानगर मंत्री दीपक बघेल का कहना है कि हरीश ठाकुर कभी भी एबीवीपी का कार्यकर्ता या सदस्य नहीं रहा है।

वही विश्वविद्यालय के पालीवाल पार्क परिसर में धरना दे रहे एनएसयूआई के नेताआें ने बालिका को श्रद्धांजलि दी। एनएसयूआई के पूर्व जिलाध्यक्ष दीपक शर्मा ने भी हरीश ठाकुर एबीवीपी का सक्रिय कार्यकर्ता बताते हुए कार्रवाई की मांग की है।

TOPPOPULARRECENT