दूसरे समुदायों के मुकाबले मुस्लिम पर्सनल लॉ सबसे बेहतर: इंदिरा जयसिंह

दूसरे समुदायों के मुकाबले मुस्लिम पर्सनल लॉ सबसे बेहतर: इंदिरा जयसिंह
Click for full image

वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने गुरुवार को मुस्लिम पर्सनल लॉ की सराहना करते हुए कहा कि यह हिंदू प्रथाओं के मुकाबले बेहतर है क्योंकि यहाँ कम से कम शादी के पहले दुल्हन की सहमति ली जाती है।

इंदिरा जयसिंह ने बहस के दौरान सुप्रीम कोर्ट से कहा कि एक तरह से मुस्लिम पर्सनल लॉ दूसरे पर्सनल लॉ से बेहतर है। उन्होंने कहा कि अगर न्यायिक व्यवस्था से इतर तलाक दिए जा रहे हैं तो ऐसी स्थिति में इसके परिणामों से निपटने के लिये ‘न्यायिक निगरानी’ होनी चाहिए।

बहस के दौरान वरिष्ठ वकील ने भी पूछा, क्या संविधान रोकता है जहां परिवार कानून शुरू होता है। उन्होंने कहा कि सभी पर्सनल लॉ-हिंदू, मुस्लिम, पारसी और सिख को संविधान के दायरे में खड़ा होना चाहिए।

 

Top Stories