Monday , July 16 2018

मंत्री का दर्जा पाते ही संतों ने बदले सुर: नर्मदा घोटाला रथ यात्रा रद्द की

मध्य प्रदेश में राज्य मंत्री के दर्जे से नवाजे गए दो हिंदू संतों ने सरकार के खिलाफ प्रस्तावित नर्मदा घोटाला रथ यात्रा रद्द कर दी है। मध्यप्रदेश में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सूबे की भाजपा सरकार ने पांच हिंदू संतों को राज्य मंत्री का दर्जा दिया है। इससे पहले 31 मार्च को इन पांचों संतों को नर्मदा नदी संरक्षण के लिए स्थापित एक समिति के लिए नियुक्त किया गया था।

पिछले दिनों कंप्यूटर बाबा ने घोषणा की थी कि वह योगेंद्र महंत के साथ मिलकर एक अप्रैल से 15 मई तक मध्यप्रदेश के हर जिले में नर्मदा घोटाला रथ यात्रा निकालेंगे। इसमें वह नर्मदा नदी के किनारे पौध रोपण के कथित घोटाले का पर्दाफाश करेंगे। साथ ही सरकार से नदी में अवैध रेत खनन पर प्रतिबंध लगाने की मांग करेंगे।

इस मुहिम की प्रचार सामग्री सोशल मीडिया पर भी वायरल है। राज्यमंत्री का दर्जा हासिल करने के बाद कंप्यूटर बाबा ने कहा कि हम लोगों ने यह यात्रा रद्द कर दी है, क्योंकि प्रदेश सरकार ने नर्मदा नदी के संरक्षण के लिए साधु-संतों की समिति बनाने की हमारी मांग पूरी कर दी है। अब भला हम यह यात्रा क्यों निकालेंगे।

TOPPOPULARRECENT