Sunday , April 22 2018

मन्नान वाणी के नेटवर्क का पता लगाने में एजेंसियां व्यस्त

अलीगढ़: एएमयु के बर्खास्त रिसर्च स्कोलर मन्नान बशीर वाणी के नेटवर्क का पता लगाने के लिए इंटेलिजेंस ब्यौरो (आईबी) एंटी टेररिस्ट स्क्वायर्ड (एटीएस) और सर्विलेंस टीमें दिन रत एक किए हुए हैं।उसके मेल आईडी के जरिए यह पता लगाने की कोशिश हो रही है कि उसने किसे और क्या मैसेज भेजा या किसी के मैसेज उसके पास आते थे।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

6 महीने पहले बंद किए गये मोबाइल पर उसने किस से बात कीं, यह भी पता लगाने की कोशिश हो रही है। काल डिटेल रिकॉर्ड से कई नाम सामने आ भी चुके हैं। साथ ही पकडे गए आतंकवादियों से भी उसका कनेक्शन पता करने की कोशिश हो रही है।

जानकार बताते हैं कि आतंकवादी गतिविधियों में शामिल मन्नान ने पहले से ही तैयारी कर ली थी। इसलिए उसने एसी चीजें समाप्त कर दीं जिन से उसकी पोल खुलती। उसका फ़ेसबुक अकाउंट बंद है। ट्विटर भी उसने बंद कर दिया था। पुराना मोबाइल फोन भी अगस्त 2017 में बंद कर दिया था। जानकर बताते हैं कि इमेल आईडी से भी बहुत कुछ हासिल होने वाला नहीं है।

TOPPOPULARRECENT