Friday , September 21 2018

‘एजेंडा ऑफ़ अलाउंस’ की बुनियाद पर हो पाकिस्तान और कश्मीरियों से बातचीत

जम्मू कश्मीर की सत्ताधारी दल पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) ने कहा कि पाकिस्तान और कश्मीरियों से ‘वार्ता’ संयुक्त सरकार के एजेंडा ऑफ़ अलाइंस में पहली और आखिरी शर्त है। पार्टी की ओर से यह ब्यान संसद में केंद्र सरकार के दावे कि ‘जम्मू व कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती की ओर से पाकिस्तान के साथ बातचीत करने की कोई प्रस्ताव नहीं आई है, कि एक दिन बाद सामने आया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

गौरतलब है कि राज्य गृह मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने बुधवार के दिन राज्यसभा में श्रोमणी अकाली दल के एक सदस्य के लिखित सवाल, क्या मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने राज्य में शांति स्थापना की खातिर पाकिस्तान से बातचीत करने की मांग किया है। इनके लिखित जवाब में कहा कि राज्य सरकार की ओर से एसी कोई प्रस्ताव नहीं आई है।

केंद्र सरकार के इस बयान के एक दिन बाद पीडीपी के उप अध्यक्ष मोहम्मद सरताज मदनी ने कहा कि पाकिस्तान और कश्मीर से वार्ता एजेंडा ऑफ़ अलाइंस की पहली और आखिरी शर्त है। उन्होंने गुरुवार को यहाँ पार्टी के एक दिवसीय कंवेंशन के हाशिये पर संवादाता की ओर से केंद्र सरकार के दावे के बारे में दो बातें कही।

जब मुफ़्ती साहब ने पार्टी की बुनियाद डाली तो किस बुनियाद पर डाली? हमारा बुनियादी डेक्लीरेशन क्या था? दूसरी बात मुफ़्ती साहब ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ जो एजेंडा ऑफ़ अलाइंस गठित किया है, उसमें तीन महीने लगे थे। इसमें तो बातचीत पहली और आखिरी शर्त है।

TOPPOPULARRECENT