Thursday , February 22 2018

पाक को खुफिया जानकारी भेजने के आरोप में वायुसेना का ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह गिरफ्तार

खुफिया जानकारी लीक करने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने एक भारतीय वायुसेना के  ग्रुप कैप्टन को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने हनीट्रैप के जरिए ग्रुप कैप्टन से खुफिया जानकारी हासिल की.  ग्रुप कैप्टन पर सरकारी गोपनीयता कानून के तहत केस दर्ज कर लिया गया है. सूत्रों के मुताबिक वायुसेना मुख्यालय में तैनात रहे ग्रुप कैप्टन को काउंटर इंटेलिजेंस विंग की ओर से करीब 10 दिनों तक की गई पूछताछ के बाद दिल्ली पुलिस को सौंप दिया गया. उसे पांच दिन के रिमांड पर भेज दिया गया है.ग्रुप कैप्टर अरुण मारवाह फेसबुक के जरिए दो महिलाओं के संपर्क में आया था. बाद में वह खुफिया जानकारी वॉट्सएप के जरिए भेजने लगा.

उसने एक सोशल मीडिया वेबसाइट के जरिए महिला से दोस्ती की थी. वायुसेना ने इस मामले में अभी आधिकारिक तौर पर कोई बयान नहीं दिया है. अधिकारी दोषी पाया गया तो उसे सात साल तक की जेल हो सकती है.

अधिकारी वायुसेना मुख्यालय में तैनात था. सूत्रों के मुताबिक वायुसेना के केंद्रीय सुरक्षा एवं जांच दल ने एक नियमित जासूसी रोधी चौकसी के दौरान पाया कि अधिकारी अनधिकृत इलेक्ट्रानिक उपकरणों के जरिए अवांछित गतिविधियों में लिप्त था.

बताते चलें कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI भारत में जासूसी करने के लिए हनीट्रैप का सहारा ले रही है. इसमें जवानों को मोहरा बनाया जा रहा है. साल 2015 में रंजीत केके नाम के एक एयरमैन को अरेस्ट किया गया था.

 

TOPPOPULARRECENT