Thursday , December 14 2017

दिल्ली में कार्बन का काल, भारतीय चिकित्सा संघ ने घोषित की हेल्थ इमरजेंसी

दिल्ली में वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर के मद्देनजर डॉक्टरों ने लोगों को तड़के और शाम के घंटों के दौरान बाहर निकलने से बचने की सलाह दी है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स, के निदेशक डा.रणदीप गुलेरिया ने इसे ‘‘लोगों के स्वास्थ्य के लिए आपात स्थिति’’ बताया और कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए एक आंदोलन शुरू किये जाने की जरूरत है।

उन्होंने बुजुर्गों, बच्चों और श्वसन और हृदय संबंधी समस्याओं के मरीजों को बहुत ज्यादा शारीरिक मेहनत वाली गतिविधियों से बचने की सलाह दी। उन्होंने लोगों को सुबह या शाम के घंटों के दौरान बाहर निकलने से बचने की भी सलाह दी क्योंकि इन घंटों में प्रदूषण का स्तर काफी ज्यादा बढ़ जाता है।

उन्होंने कहा, ‘‘प्रदूषक कण उस समय ज्यादा नीचे आ जाते है जब तापमान कम होता है और वहां हवा भी नहीं चलती है। तड़के और देर शाम के घंटों में प्रदूषण का स्तर ज्यादा बढ़ जाता है।’’

 

TOPPOPULARRECENT