Wednesday , June 20 2018

इलाहाबाद हाई कोर्ट का फैसला, अतिक्रमण कर बनाए गए मंदिर-मस्जिद को हटाने का निर्देश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अतिक्रमण कर बनाए गए मंदिर-मस्जिद या कोई भी अन्य धार्मिक स्थलों को ध्वस्त करने का निर्देश दिया है

हाईकोर्ट ने जनवरी 2011 के बाद पब्लिक रोड, सड़क, गली व साइड रोड पर अतिक्रमण कर बने मंदिर, मस्जिद और अन्य किसी भी धार्मिक स्थल को तत्काल हटाने का फैसला सुनाया. साथ ही कोर्ट ने एक जनवरी 2011 के पहले के राजमार्ग, सड़क आदि पर खड़े अवैध धार्मिक या अन्य किसी निर्माण को अगले 6 माह में शिफ्ट करने का निर्देश भी दिया.

कोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई के दौरान कहा कि 10 जून 2016 के बाद सड़क पर अतिक्रमण कर बने धार्मिक निर्माण की जवाबदेही डीएम, एसडीएम, सीओ एसपी, एसएसपी की होगी.

कोर्ट ने मुख्य सचिव को सभी जिला मजिस्ट्रेट और पुलिस अधीक्षकों को सर्कुलर जारी कर सड़क से यातायात में अवरोध उत्पन्न करने वाले सभी निर्माणों की जवाबदेही तय करने का निर्देश दिया. कोर्ट ने कहा कि कृषि भूमि वक्फ सम्पत्ति नहीं हो सकती.

मामले को लेकर कोर्ट ने 7 माह में मुख्य सचिव से अनुपालन रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है.

TOPPOPULARRECENT