अमर दुबे के मरे पिता सात साल बाद हुए जिन्दा, पुलिस ने गिरफ्तार किया ॥

अमर दुबे के मरे पिता सात साल बाद हुए जिन्दा, पुलिस ने गिरफ्तार किया ॥

कानपुर के बिकरू गांव में 8 पुलिस कर्मियों को मारने वाला दुर्दांत अपराधी विकास दुबे का राइट हैंड अमर दुबे का मरा हुआ बाप जिंदा पकड़ा गया है।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट इन पर छपी खबर के अनुसार, अमर दुबे के बाप का नाम संजीव दुबे है, जिसे पुलिस ने गुरुवार शाम एक पुलिस ऑपरेशन में बिकरू गांव से गिरफ्तार किया है।

संजीव दुबे भी एक अपराधी है और चौबेपुर थाने में उसके खिलाफ संगीन अपराधों के 12 मामले दर्ज हैं।

विकास दुबे के विश्‍वासपात्र और सबसे खास आदमी अमर दुबे, जो बिकरू हत्‍याकांड में भी शामिल था, को यूपी एसटीएफ ने हमीरपुर जिले के मौदाहा में बुधवार को हुए एक एनकाउंटर में मार गिराया था।

अमर दुबे पर 50,000 रुपए का इनाम था। शुक्रवार को उज्‍जैन से कानपुर लाते वक्‍त कानपुर के भौती में एक मुठभेड़ में विकास दुबे भी मारा गया।

गुरुवार को, जब पुलिस अमर दुबे के एनकाउंटर में मारे जाने की सूचना उसके परिवार को देने के लिए बिकरू गांव पहुंची तब उन्‍हें वहां पता चला कि अमर का पिता संजीव दुबे जीवित है।

सूचना देने वाले गांव के व्‍यक्ति ने पुलिस को उस स्‍थान तक पहुंचाया, जहां संजीव छुपा हुआ था। वो यहां पिछले 7 सालों से अपनी पहचान छुपाकर रह रहा था।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि संजीव को उस वक्‍त पकड़ा गया जब वह अपने बेटे के मरने की खबर सुनकर बाहर निकला। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि वह दुर्घटना में बच गया था, लेकिन उसका एक पैर कट गया।

संजीव के खिलाफ चौबेपुर थाने में 12 मामले दर्ज हैं, जिसमें हत्‍या की कोशिश, वसूली और लूट जैसे अपराध शामिल हैं।

7 साल पहले हुई एक सड़क दुर्घटना के बाद संजीव लापता हो गया था और उसने अपने परिवार से कहा कि उसके मरने की खबर फैला दी जाए तक उसके ऊपर से सभी आपराधिक मामले खत्‍म हो जाएं।

Top Stories