Wednesday , January 24 2018

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने जारी की रोहिंग्या मुसलमानों की बस्तियां जलाने की सेटेलाइट तस्वीरें, म्यांमार सेना के ख़िलाफ़ सबूत

लंदन। एमनेस्टी इंटरनेशनल ने म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ म्यांमार सेना और बौद्ध आतंकवादियों के बर्बर अपराध को नरसंहार करार दिया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

एमनेस्टी इंटरनेशनल के वरिष्ठ अधिकारी तिराना हसन ने कहा कि ऐसे कई सारे गवाह और सबूत मौजूद हैं जिनसे इंकार नहीं किया जा सकता कि म्यांमार की सेना और सुरक्षा कर्मियों ने राखेन प्रांत के कुछ क्षेत्रों को जला दिया है।

उन्होंने कहा कि म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ योजनाबद्ध तरीके से किये जाने वाला यह कदम है।

वहीं दूसरी ओर एमनेस्टी इंटरनेशनल ने सेटेलाइट से प्राप्त होने वाली ऐसी तस्वीरें जारी की हैं जिनसे रोहिंग्या अवाम के गांवों को जलाने के म्यांमार की सेना के अमानवीय क़दम का पता चलता है।

सेटेलाइट से प्राप्त होने वाली तस्वीरों में यह स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है कि म्यांमार की बलों और बौद्ध आतंकियों ने रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ क्रूर अपराध कर रहे हैं। म्यांमार की लोकतांत्रिक सरकार और सेना राखेन में अंतरराष्ट्रीय सहायता एजेंसियों को पीड़ित तक पहुंचने से रोक रही है।

TOPPOPULARRECENT