Monday , December 18 2017

‘AMU’ ओल्ड बॉयज एसोसिएशन कोलकाता ने भी मनाया ‘सर सैयद डे’ , मुर्शिदाबाद सेंटर के लिए सरकार से फंड देने की अपील की

अब्दुल हमीद अंसारी, कोलकाता। सर सैयद के जलाये चराग को बुझाया नहीं जा सकता है। यह बात मैं इसलिए कह रहा हूँ कि उन्होंने जो शिक्षा का चराग जलाया था, वो आज तक जल रही है। इस चराग की रौशनी हर साल 17 सितंबर को पुरी दुनिया में एक साथ जल उठती है।

आज से ठीक दो सौ साल पहले समाजसेवी सर सैयद अहमद ख़ान का जन्म 17 अक्टूबर, 1817 को हुआ था। सर सैयद अहमद ने दुनिया भर में अपनी शिक्षा के लिए मशहूर मोहम्मडन-एंग्लो-ओरिएण्टल कॉलेज की स्थापना की थी जो बाद में अलीगढ़ मुस्लिम विश्विद्यालय बना।

इस अवसर पर एएमयू ओल्ड बॉयज एसोसिएशन कोलकाता ने भी एक प्रोग्राम रखा। इस प्रोग्राम को कोलकाता के एक हॉल में आयोजित किया गया। एएमयू ओल्ड बॉयज एसोसिएशन कोलकाता के सचिव वकार अहमद खान ने बताया कि सर सैयद डे हम अलीगो के लिए बहुत अहम दिन होता है।

हम सभी मेंबर्स एक जगह इकट्ठा होकर सर सैयद को याद करते हैं। वकार अहमद खान के मुताबिक कोलकाता एसोसिएशन की स्थापना 1974 में हुई थी और तब से हर साल हम ‘सर सैयद डे’ के मौके पर प्रोग्राम आयोजित किया जाता है। वकार अहमद खान ने बताया कि इस एसोसिएशन से तकरीबन साढ़े चार हजार मेंबर्स जुड़े हुए हैं।

उनके मुताबिक इस एसोसिएशन में इंजीनियर्स, आईएएस, आईपीएस, आईआरएस वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट, डॉक्टर, प्रोफेसर, बिजनेस और राजनीतिक क्षेत्र के लोग जुड़े हुए हैं। वकार अहमद खान जो इस संस्था के सचिव हैं, बताया कि हमारा भी मकसद शिक्षा के क्षेत्र में काम करना है। हम सर सैयद के मिशन को लेकर चलने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं।

आपको बता दें कि इस एसोसिएशन ने 2011 में मुर्शिदाबाद सेंटर को कायम होने में अहम भूमिका निभाई है। किशनगंज सेंटर के लिए इस एसोसिएशन ने जमकर आंदोलन किया था जिसके बाद किशनगंज सेंटर वजूद में आने में कामयाब हुआ।

‘सर सैयद डे’ के अवसर पर जमा हुए इस एसोसिएशन के मेंबर्स ने इन सेंटरों के लिए कुछ सवाल भी रखें, जिसका जवाब इस एसोसिएशन के सचिव वकार अहमद खान ने दिया।

मुर्शिदाबाद सेंटर को लेकर इस एसोसिएशन ने अपनी मायूसी भी जाहिर की है। वकार अहमद खान का कहना है कि मुर्शिदाबाद सेंटर के लिए सरकार ध्यान नहीं दे रही है। यही वजह है कि अबतक सिर्फ़ तीन कोर्सों की शुरुआत हो पाई है।

उन्होंने कहा कि यहां फिलहाल बीए- एलएलबी, बीएड और एमबीए की कोर्सेस पढ़ाई जा रही है। तकरीबन 267 एकर्स में फैली यह सेंटर को जिस मकाम पर होना चाहिए था वो फिलहाल नहीं है। वकार अहमद खान ने बताया कि केंद्र सरकार की तरफ से फंड नहीं मिलने की वजह से बिल्डिंग को नहीं बढ़ाया जा सका है।

उन्होंने केंद्र सरकार से अपील की है इस सेंटर की उन्नति के लिए फंड को रिलीज किया जाये। वकार अहमद खान ने राज्य की ममता बनर्जी सरकार से अपील की है कि वे इस मामले में दखल देकर केंद्र सरकार पर दबाव बनाये।

वकार अहमद खान ने बताया कि इस सिलसिले में हमारी संस्था की एक प्रतिनिधि दल केन्द्र की मानव संसाधन एवं विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मिलेंगे और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से भी मुलाकात करने की कोशिश करेगी। उन्होंने कहा कि इन लोगों से मिलकर सेंटर के लिए फंड रीलिज करने की अपील करेंगे जिससे सेंटर का विकास की जा सके।

TOPPOPULARRECENT