AMU को मुस्लिम समर्थक मानसिकता से चलाया जाता है- बीजेपी सासंद

AMU को मुस्लिम समर्थक मानसिकता से चलाया जाता है- बीजेपी सासंद

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू ) के नाम को बदलने की मांग फिर तेज हो गई है। अलीगढ़ से बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने कहा है कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में ‘मुस्लिम’ शब्‍द से कई लोग असहज महसूस करते हैं, इसलिए करीब एक सदी पुरानी इस यूनिवर्सिटी के नाम को बदलना अच्‍छा रहेगा।

उन्‍होंने सुझाव दिया कि इसे अलीगढ़ यूनिवर्सिटी बुलाना उपयुक्‍त होगा।
यह पूछे जाने पर कि क्‍या काशी हिंदू विश्‍वविद्यालय का भी नाम बदला जाना चाहिए, इस पर गौतम ने कहा, ‘यह हिंदू राष्‍ट्र है और बीएचयू से हिंदू शब्‍द हटाने का कोई सवाल ही नहीं है।’

बता दें कि बीजेपी सांसद गौतम अक्‍सर एएमयू के बारे में बयान देते रहते हैं। वह एएमयू में कई जगहों पर लगाई गई जिन्‍ना की तस्‍वीरों को हटाने की मांग करते रहे हैं।

वह एएमयू को ‘आतंकवादियों की पाठशाला’ करार दे चुके हैं। गौतम ने कहा, ‘केंद्र सरकार के प्रतिनिधि होने के नाते यह मेरी ड्यूटी है कि जब चीजें गलत हों तो उनके खिलाफ आवाज उठाऊं। जो मुद्दे राष्‍ट्रहित से जुड़े हैं, उन पर मैं कभी शांत नहीं रहूंगा। मैं उस मानसिकता के खिलाफ हूं जो वहां है। मैं यूनिवर्सिटी के खिलाफ नहीं हूं।’

नवभारत टाइम्स पर छपी खबर के अनुसार, बीजेपी सांसद ने कहा, ‘यूनिवर्सिटी बिना किसी संदेह के मुस्लिम समर्थक मानसिकता के साथ संचालित की जा रही है। यह उनके हर काम में झलकता भी है। उनके यहां ईद पर छुट्टी है पर हिंदुओं के सबसे बड़े त्‍योहार दीपावली पर छुट्टी नहीं है।

वे मुस्लिम युवाओं को कैंपस के अंदर नमाज पढ़ने की अनुमति देते हैं लेकिन वहां एक भी मंदिर नहीं है। यदि वे वाकई सेक्‍युलर हैं तो वहां निश्चित रूप से एक मंदिर, एक गुरुद्वारा और चर्च भी होना चाहिए।’

Top Stories