अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के दस छात्र बने जज

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के दस छात्र बने जज
Click for full image

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के संस्थापक सर सैयद अहमद खान की दो सौवीं जयंती के अवसर पर यूनिवर्सिटी को मिली बड़ी ख़ुशख़बरी। यूनिवर्सिटी के दस छात्रों ने उत्तरप्रदेश जूडीसीयल सर्विस परीक्षा 2016 के परिणाम में क्युआलिफ़ाई किया है।

यूपीपीएससी द्वारा आयोजित की जाने वाली जूडीशियल सर्विस परीक्षा को पास कर के एएमयू के 10 छात्र सिविल जज बने हैं।

रेसीडेंशियल कोचिंग अकेडमी के डायरेक्टर प्रो सग़ीर अहमद ने बताया कि यूनिवर्सिटी के 6 छात्रों और 4 छात्राओं ने यह जूडीशियल सर्विस में क्युआलिफ़ाई किया है।

यूनिवर्सिटी के वाईस चांसलर प्रो तारीक़ मंसूर ने छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि सर सैयद अहमद खान की दो सौवीं जयंती का यह वर्ष यूनिवर्सिटी के लिए काफ़ी बेहतरीन साबित हुआ है जहाँ पर हम सर सैयद अहमद के सपनों को पूरा करने की ओर लगातार अपने क़दम बढ़ा रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि ये पूरी एएमयू बिरादरी के लिए गर्व की बात है की हमारी यूनिवर्सिटी इस साल की हर रैंकिंग की दौड़ में आगे रही है। प्रो मंसूर ने छात्रों को विश्वास दिलाया कि वे उनके अकेडमिक और प्रोफ़ेशनल सपनों को पूरा करने के लिए उनकी पूरी मदद करेंगे। साथ ही उन्होंने आरसीए  के छात्रों और अध्यापकों का शुक्रिया अदा किया।

आपको बता दें 10 छात्रों में रुमाना अहमद की सबसे कम रैंक 15 रही, आतिफ़ सिद्दीक़ी 36, शशांक गुप्ता 65, चारु सिंह 83, पुष्पेंद्र चौधरी 119, स्वाति सिंह 151म मोहम्मद आरिफ़ 162, युगल शंभु 199 और अनुराग सिंह को 213 रैंक प्राप्त हुई।

Top Stories