Saturday , December 16 2017

रोहिंग्या मुसलमानों से क्षमा चाहता हूँ: पॉप फ्रांसिस

कैथोलिक ईसाईयों के अध्यात्मिक गुरु पॉप फ्रांसिस ने अत्याचार ओ हिंसा का शिकार होने वाले रोहिंग्या मुसलमानों से माफ़ी मांगी है। शुक्रवार को बंगलादेश में पॉप फ्रांसिस ने रोहिंग्या मुसलमानों से मुलाक़ात की और राजनितिक तौर पर संवेदनशील समझी जाने वाली शब्द ‘रोहिंग्या’ का पहली बार इस्तेमाल किया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

इससे पहले पाने दौरे के शुरुआत में मयांमार में उन्होंने यह शब्द इस्तेमाल नही किया था, जिस पर उन्हें आलोचना का सामना करना पड़ा। कोक्स बाज़ार के कैम्पों से पॉप से मुलाक़ात के लिए ढाका लाये गये उन शरणार्थियों के एक ग्रुप से पॉप ने ख़िताब किया और उनके लिए नेक तमन्नाओं का इज़हार किया।

पॉप फ्रांसिस ने शरणार्थियों के ग्रुप के लोगों हाथ अपने हाथों में थामे और उनकी फ़रियाद भी सुनी। इस मौके पर बेहद भावनात्मक मंजर भी देखने में आए। उन्होंने रोहिंग्या मुसलमानों से कहा कि वह इस समुदाय पर ज़ुल्म ढाने वालों की ओर से इनसे क्षमा चाहता हूँ।

TOPPOPULARRECENT