जासूसी के आरोप में भारतीय सेना का जवान गिरफ्तार, दुश्मन देश को देता था अहम सुराग

जासूसी के आरोप में भारतीय सेना का जवान  गिरफ्तार, दुश्मन देश को देता था अहम सुराग
Click for full image

उत्तर प्रदेश के मेरठ कैंटोनमेंट इलाके से एक आर्मी के जवान को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आर्मी के सिग्नल रेजमेंट के गिरफ्तार जवान से पूछताछ की जा रही है।

गौरतलब है कि इससे पहले 8 अक्टूबर को जासूसी के मामले में ब्रह्मोस एयरोस्पेस के इंजीनियर निशांत अग्रवाल को गिरफ्तार किया गया था। यूपी एटीएस और महाराष्ट्र एटीएस ने संयुक्त ऑपरेशन में नागपुर से निशांत अग्रवाल को गिरफ्तार किया था।

पुलिस ने कहा था, ‘संयुक्त कार्रवाई में निशांत के घर पर तलाशी ली गई जिसमें उसके पर्सनल लैपटॉप पर गोपनीय और अतिसंवेदनशील रिकॉर्ड मिले। यह रिकॉर्ड निशांत के पर्सनल लैपटॉप पर नहीं होने चाहिए जो ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के अंतर्गत अपराध है।’

पुलिस रिमांड के बाद आरोपी निशांत को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। निशांत को ऑफिशियल सीक्रेट्स एक्स के तहत रिमांड पर लिया गया था। रिमांड के दौरान निशांत से केंद्रीय जांच एजेंसियों ने पूछताछ की है।

वहीं निशांत के बैंक खातों की भी जांच की जा रही है, जिससे इस संबंध में जानकारी मिल सके। पिछले हफ्ते उत्तर प्रदेश एडीएस ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि ब्रह्मोस एयरो स्पेस द्वारा इस बात की पुष्टि की गई है कि निशांत के कम्प्यूटर में जो जानकारियां मिली हैं वह उसके पास नहीं होनी चाहिए थी।

मामले को हनी ट्रैप से जोड़कर देखा जा रहा है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने जांच में पाया है कि निशांत सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के जरिए नेहा शर्मा और पूजा रंजन के संपर्क में था। ये दोनों ही फेसबुक आईडी पाकिस्तान से संचालित की जा रही थी और दोनों ही फर्जी अकाउंट हैं।

Top Stories