Wednesday , September 19 2018

अरविंद केजरीवाल वास्तव में माफ़ी नहीं मांग रहे हैं : फ़िरोज़ बख्त अहमद

दिल्ली की जनता से काम का वादा पूरा करने के बजाय दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का ‘माफी अभियान’ जारी है जिससे उनका कद छोटा हो रहा है। आज यदि दिल्ली में चुनाव होते हैं तो कांग्रेस और भाजपा के बाद आम आदमी पार्टी तीसरे स्थान पर होगी। इस माफ़ी अभियान से जहां उनकी पार्टी में हलचल मची हुई है, वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केजरीवाल पर तंज कसते हुए कहा कि अरविंद जी, मेरी सलाह मानिए तो एक लिस्ट बना लीजिए। बारी-बारी से सबसे माफी मांगने में आसानी होगी।

क्या माफी वास्तव में कमजोरी के बजाय व्यक्ति की आंतरिक शक्ति का प्रतीक है और केजरीवाल के मामले में बूमरंग हो गया है। सच्चाई यह है कि यह माफी दिल से नहीं मांगी गई है। वैसे जिनसे वे माफी मांगना चाहते हैं, उनके लिए यह चिंता का विषय हो सकता है। एक अन्य तथ्य यह है कि केजरीवाल ने इतने सारे लोगों की भावनाओं और जनता की धारणा को चोट पहुंचाई है तो उन्हें सही मायने में दिल से माफी मांगनी चाहिए।

हालांकि उन्होंने माफी माँगने के लिए उनको ही चुना है जिन्होंने उनको अदालत में खींचा था और अरुण जेटली के मामले में मुआवजे के तौर दस करोड़ रुपये का भुगतान करने की मांग की थी। वास्तव में, केजरीवाल को प्रशांत भूषण, योगेंद्र यादव और कई अन्य लोगों से माफी मांगनी चाहिए जिन्होंने उन्हें ईमानदार, ध्यान केंद्रित, समृद्ध और सुप्रसिद्ध सार्वजनिक नेता के रूप में ले जाने के लिए समर्थन किया था।

हालांकि केजरीवाल अपने राजनैतिक प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ अपनी शर्मनाक लकीर से कभी भी विवश नहीं हुए और अंत में कमजोर पड़ गए। उनको दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से माफी मांगनी चाहिए और वास्तव में यदि उनका विवेक जिन्दा है तो उन्हें अपनी सीट छोड़ देनी चाहिए। केजरीवाल ने बिक्रम सिंह मजीठिया, कपिल सिब्बल, उनके बेटे अमित और नितिन गडकरी को उनके खिलाफ मानहानि के मामलों को समाप्त करने के लिए कदम उठाया है जिससे एक राजनीतिज्ञ के रूप में अपनी विश्वसनीयता पर एक बड़ा सवाल खड़ा किया है।

हालांकि, अरुण जेटली ने केजरीवाल को माफ़ नहीं किया है क्योंकि उनका मानना ​​है कि ये बड़े नामों के चंगुल से बाहर निकलने के लिए एक शानदार कार्य है, जिनकी प्रतिष्ठा पर केजरीवाल ने कहर लगाया है। अब समय आ गया है कि केजरीवाल को आत्मनिरीक्षण करने और उन लोगों से सच्ची दिल से माफी माँगने का जिन्होंने उन पर भरोसा किया था।

TOPPOPULARRECENT