Wednesday , January 24 2018

मोदी और अखिलेश में कोई फर्क नहीं, दंगा रोकने में दोनों नाकाम- ओवैसी

कानपुर। यूपी चुनावों में एमआईएम भी दमदार अंदाज और तीखे तेवरों के साथ चुनाव लड़ रही है। असदुद्दीन ओवैसी पीएम मोदी के साथ ही सीएम अखिलेश पर भी अपनी सभाओं में तीखे हमलें कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को एक ही सिक्के के दो पहलू बताते हुये एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कानपुर में कहा कि एक तरफ जहां मोदी मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए गुजरात में दंगे नहीं रोक पाये थे वहीं दूसरी तरफ मुजफ्फरनगर के दंगों को अखिलेश नही रोक पाये, फिर दोनों में क्या फर्क बचा ।

ओवैसी ने कहा कि अखिलेश मुसलमानों को भाजपा से डराकर वोट हासिल करना चाहते हैं। कानपुर की आर्यनगर सीट से विधानसभा चुनाव में खड़े एआईएमआईएम उम्मीदवार के समर्थन में जनसभा करने आज रात करीब साढ़े नौ बजे ओवैसी कानपुर पहुंचे। उन्होंने कहा कि वह पहले भी कानपुर आना चाहते थे लेकिन प्रशासन ने उन्हें आने नहीं दिया।

ओवैसी ने कहा कि चुनाव आचार संहिता लागू होने की वजह से चुनाव आयोग के डर के कारण उन्हें यहां आने की अनुमति दी गई। उन्होंने कहा कि वह उत्तर प्रदेश में करीब एक दर्जन चुनावी सभायें कर चुके हैं लेकिन उनके भाषण से प्रदेश में कहीं भी कानून व्यवस्था को खतरा नही पहुंचा ।

ओवैसी ने कहा कि असल में उनसे कानून व्यवस्था को नहीं बल्कि समाजवादी पार्टी की सरकार को खतरा था क्योंकि उसे यह बात सामने आने का डर था कि वह भारतीय जनता पार्टी का डर दिखाकर मुसलमानों का वोट हासिल कर रही है

TOPPOPULARRECENT