AIMIM ने कभी भाजपा का समर्थन नहीं किया: असदुद्दीन ओवैसी

AIMIM ने कभी भाजपा का समर्थन नहीं किया: असदुद्दीन ओवैसी
Click for full image

हैदराबाद। आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) अध्यक्ष और हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने उन आरोपों को नकार दिया जिनमें कहा गया है कि उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भाजपा की समर्थन दिया।

शनिवार को पार्टी मुख्यालय दारुस्सलाम में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि एमआईएम ने उत्तर प्रदेश में केवल 35 सीटों पर चुनाव लड़ा था जबकि 368 अन्य सीटों पर उनकी उपस्थिति नहीं थी।

हालांकि, उन्होंने कहा कि कुछ ‘तथाकथित धर्मनिरपेक्ष पार्टियां’ एमआईएम पर मुस्लिम मतों को विभाजित करने का आरोप लगा रही हैं, जिससे भाजपा चुनाव जीत गई। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के ‘तथाकथित धर्मनिरपेक्ष दल’ मुस्लिम और धर्मनिरपेक्ष मतों के विभाजन को रोकने में असफल रहे है। एमआईएम ने कभी भी भाजपा का समर्थन नहीं किया।

एमआईएम प्रमुख ने सवाल किया कि धर्मनिरपेक्ष मतों के विभाजन ने देवबंद जैसी सीटों से भाजपा को जीत दिलाने में मदद की, जहां करीब 80% मतदाता मुसलमान हैं। उन्होंने कहा कि धर्मनिरपेक्ष पार्टियों को उनके प्रदर्शन और रणनीतियों पर गंभीर से सोचने की ज़रूरत है।

कांग्रेस पार्टी को भी अपनी विफलता के कारणों का विश्लेषण करना चाहिए। सत्ता में आने से सांप्रदायिक दलों को रोकने की ज़िम्मेदारी केवल मुसलमानों पर ही नहीं होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि एमआईएम देश के लिए काम करने में विश्वास रखती है। यूपी चुनाव के परिणामों ने एक बार फिर मुस्लिम वोट बैंक के मिथक को तोड़ दिया है।

Top Stories