मुस्लिम परिवारों को गाँव से निकालने की कोशिश, धरना देकर सरकार पर सौतेले व्यवहार का आरोप लगाया

मुस्लिम परिवारों को गाँव से निकालने की कोशिश, धरना देकर सरकार पर सौतेले व्यवहार का आरोप लगाया

गोंडा: भाजपा एमएलए के जरिये अल्पसंख्यक परिवारों को गाँव से निकालने पर पीड़ित परिवार के पुरुष महिलाओं के साथ बच्चों ने जिला मजिस्ट्रेट की आवास पर धरना देकर सरकार पर सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

आपको बता दें कि तहसील करनैलगंज के मौजा मेजापूर हाता के रहने वाली शहर बानो पत्नी अमीर खान, सायरा बेगम, सबरन निसा और कईयों को करनैलगंज के तहसीलदार ने आवास खाली करने का फरमान भेजा जिससे परिवारों में बेचैनी पैदा हो गई है।

वहीं उनके घर को खाली कराने के लिए गाँव प्रधान व क्षेत्र के एमएलए बावन सिंह ने बिह प्रशासन पर दबाव डालते हुए परिवारों के लोगों को गाँव छोड देने की धमकी भी दी है। जिससे परेशान लोगों ने अपने पूरे परिवार के साथ जिला मजिस्ट्रेट के आवास पर पूरे दिन धरना व प्रदर्शन किया। पीड़ित परिवार के लोगों ने मीडिया से बताया कि वह लोग साल 1984 से यहाँ रह रहे हैं ।

जिस जमीन को खाली करने की नोटिस जारी की गई है वह जमीन 120 बीघा चरागाह और नर्सरी के नाम से दर्ज है। उसपर हम लोगों को सरकार की ओर से इंदिरा आवास, प्रधानमंत्री आवास के साथ साथ सभी सरकारी योजनाओं से लाभ भी उठा रहे हैं।

Top Stories