गोवा पुलिस के कांस्टेबल जुबैर मोमिन का राष्ट्रपति पदक के लिए चयन

गोवा पुलिस के कांस्टेबल जुबैर मोमिन का राष्ट्रपति पदक के लिए चयन

पणजी। गणतंत्र दिवस के अवसर पर गोवा यातायात पुलिस कांस्टेबल जुबैर मोमिन को सराहनीय सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक के लिए चुना गया है। जुबैर मोमिन एक अप्रैल 1999 को पुलिस कांस्टेबल के रूप में गोवा पुलिस में शामिल हुए थे। पुलिस ट्रेनिंग स्कूल, वाल्पपी के प्रशिक्षण को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद उनको जीआरपी अल्टींहो में तैनात किया गया।

वर्ष 2003 में उन्हें पुलिसकर्मियों को कम्प्यूटर प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए शिक्षा केंद्र में तैनात किया गया था। अपनी कार्य क्षमता बूते पर वह पुलिस अधीक्षक (यातायात) के कार्यालय से जुड़ गए जहां उन्होंने खुद को साबित कर दिया और अपने वरिष्ठ अधिकारियों के संतोषजनक काम किया।

उन्होंने पुलिस अधीक्षक (यातायात) के कार्यालय में काम करते समय साल 2004 में गोवा में आयोजित भारत के पहले अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) के लिए प्रमुख यातायात व्यवस्था का मसौदा तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

18 साल और नौ महीने की सेवा के अपने कार्यकाल के दौरान जुबैर मोमिन ने पुलिस निरीक्षक, पुलिस उपाधीक्षक और पुलिस अधीक्षक रैंक के अधिकारियों के साथ काम किया है। गोवा पुलिस विभाग ने विभिन्न क्षेत्रों में किए गए उनके अच्छे काम की सराहना करते हुए समय-समय पर पुरस्कृत किया है।

वर्ष 2015 में अपने बहुमूल्य योगदान और ड्यूटी के प्रति समर्पण के लिए उन्हें गोवा पुलिस दिवस के अवसर पर डीजीपी के प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया। इसी तरह वर्ष 2016 में उनको मुख्यमंत्री पुलिस (स्वर्ण) पदक मिला है।

Top Stories