आज़म खान बदजुबानी के लिए अपनी पहचान बना चुके हैं- जया प्रदा

आज़म खान बदजुबानी के लिए अपनी पहचान बना चुके हैं- जया प्रदा

लोकसभा में गुरुवार को ऐसा वाकया हुआ जिसके बाद रामपुर के सांसद और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान चौतरफा घिरते नजर आ रहे हैं। हुआ ये कि तीन तलाक बिल पर चर्चा के दौरान सदन की अध्यक्षता कर रहीं रमा देवी पर आजम खान ने आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी, जिसके बाद एनडीए सांसद हंगामा करने लगे। उनके शब्दों को हालांकि बाद में सदन की कार्यवाही से निकाल दिया गया।

संसद में हंगामा मचने के बाद सोशल मीडिया पर भी आजम खान को लोगों ने ट्रोल करना शुरू कर दिया। इधर, कभी आजम खान के साथ नजर आ चुकीं और अब उनकी कट्टर प्रतिद्वंद्वी भाजपा नेता जया प्रदा ने बदजुबानी को उनकी आदत बताया है और मांग की है कि उनकी सदस्यता रद्द कर दी जानी चाहिए।

यदि आपको याद हो तो लोकसभा चुनाव के दौरान आजम ने जय प्रदा पर भी अश्लील कमेंट कर दिया था जिसके बाद उनकी खूब किरकिरी हुई थी। एक टीवी चैनल से बातचीत में जया प्रदा ने कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि जनता ऐसे लोगों को चुनकर संसद भेजती है। आजम खान बदजुबानी के कारण अपनी पहचान बना चुके हैं।

इस तरह की हल्की बात करके महिला सांसद और लोकसभा स्पीकर के चेयर को अपमानित करने का काम सपा सांसद ने किया है। आगे जया प्रदा ने कहा कि आजम खान की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। ऐसे शख्‍स को संसद में रहने का अधिकार नहीं है। भारत में रहना है तो देश की महिलाओं का सम्मान करना सीखना होगा।

जया प्रदा ने मांग की है कि आजम अपनी हरकत के लिए माफी मांगे। उन्होंने कहा कि जो सदन की गरिमा नहीं रख सकता है, उसे सदन में रहने का हक नहीं होना चाहिए। उनकी सदस्यता रद्द की जानी चाहिए। भाजपा नेता जया प्रदा ने कहा कि आजम खान की यह आदत में शुमार हो चुका है। यह उनका पब्लिसिटी स्टंट है।

प्रभात खबर पर छपी खबर के अनुसार, कभी जयप्रदा के अंत:वस्त्र के बारे में बात करो, या उन पर ऊपर टिप्पणी कर दो…ऐसे आदमी को कैसे जनता ने चुनकर भेजा है यह सोचकर मुझे ताज्जुब है। रमा देवी महिला होने के साथ-साथ बुजुर्ग हैं। उनके लिए इस तरह की बात करना शर्मनाक है।

लोकसभा स्पीकर के लिए आजम खान इस तरह की बात करते हैं वे सांसद हैं या रोमांटिक रोमियो…. जब जया प्रदा से पूछा गया कि अखिलेश यादव , आजम खान का बचाव करते नजर आए…तो उन्होंने कहा कि जैसा राजा होगा वैसी ही प्रजा होगी। अखिलेश अपने पिता का सम्मान नहीं करते और आजम खान का बचाव करते फिरते हैं।

Top Stories