मतदान के दिन भी अल्पसंख्यक वोटर दहशत में थे- आज़म खान

मतदान के दिन भी अल्पसंख्यक वोटर दहशत में थे- आज़म खान

लोकसभा चुनाव 2019 में चर्चित सीट रही रामपुर लोकसभा सीट एक बार फिर से चर्चा में है। जयाप्रदा और आजम खान के बीच की लड़ाई मतदान के थमा, तो अब प्रशासन और आजम खान आमने-सामने आ गए हैं।

ज़ी न्यूज़ पर छपी खबर के अनुसार, सपा उम्मीदवार आजम खान का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने मंगलवार (14 मई) को एक बयान में कहा कि मुझे अधिकारियों से जान का खतरा है।

सपा नेता और महागठबंदन प्रत्याशी आजम खान ने कहा कि जिला प्रशासन खुद उनकी हत्या की साजिश रच रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि मतगणना प्रभावित करने के लिए प्रशासन ने लाठीचार्ज ओर गोली चलाने का माहौल बनाने के लिए भूमिका बनाई है, जिससे मतगणना के दिन मेरे वोटों की लूट के लिए पेशबंदी की जा रही है।

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन रामपुर में कर्फ्यू लगाकर मतगणना कराना चाहता है। यह मुझे मारने और वोटों की गिनती में गड़बड़ी करने की साजिश है। आजम खान के मुताबिक, मतदान वाले दिन भी रामपुर में डर और दहशत का माहौल था।

उन्होंने कहा, मतदान के दिन अल्पसंख्यक वोटर दहशत में थे। उन्होंने कहा कि शस्त्र लाइसेंस को डीएम ने पहले से ही निलंबित कर दिया है, अब उन शस्त्रों को हम बेचना चाहते हैं, जबकि हमारा कोई आपराधिक इतिहास नहीं रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रचार के दौरान 16 मुकदमे आचार संहिता के कायम किए गए, जिसमें 5 मुकदमों पर हाईकोर्ट से स्टे और अरेस्ट स्टे मिल गया है। जिले के 77 हजार लोगों को रेड कार्ड जारी किए गए थे।

अब एक बार फिर से जिला प्रशासन मतगणना में गड़बड़ी करने की कोशिश में लगा हुआ है। जिला प्रशासन नहीं चाहता है कि मैं यहां से जीत हासिल करूं।

Top Stories