Saturday , February 24 2018

VIDEO: चंद पैसों और राज्यसभा पद की खातिर बाबरी मस्जिद का दावा छोड़ने को तैयार हो गये सलमान नदवी!

लखनऊ। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के एग्जीक्यूटिव मेंबर रहे सलमान नदवी पर अमरनाथ मिश्रा ने बड़ा आरोप लगाया है। मिश्रा का कहना है कि नदवी मस्जिद का दावा छोड़ने के एवज में 5 हजार करोड़ की डील चाहते थे।

राम जन्मभूमि सद्भावना समिति के अध्यक्ष और श्रीश्री रविशंकर के सबसे करीबी अमरनाथ मिश्रा ने आरोप लगाया है कि जिस फार्मूले को लेकर सलमान नदवी और सुन्नी सेंट्रल बोर्ड के अध्यक्ष श्रीश्री रविशंकर से मिलने गए थे। उस फार्मूले के पीछे एक बड़ी डील करने की तैयारी थी।

अमरनाथ मिश्रा ने कहा कि यह फार्मूला दरअसल उनका था जो उन्होंने 5 फरवरी को सलमान नदवी और दूसरे मुस्लिम नेताओं को दिया था, लेकिन उसी मुलाकात के दौरान सलमान नदवी ने इस डील की एवज में 5000 करोड़ रुपए, अयोध्या में 200 एकड़ जमीन और राज्यसभा की एक सीट मांगी थी।

अमरनाथ मिश्रा के मुताबिक उनसे यह बात इसलिए की गई ताकि नदवी की यह बात मंदिर निर्माण से जुड़े बड़े लोगों और मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री तक पहुंचाई जा सके और किसी तरह यह डील पक्की हो सके।

मिश्रा ने खास बातचीत में आजतक को बताया कि दिल की यह बात सभी बड़े नेताओं को बता दी गई है, यहां तक की श्री रविशंकर को भी मालूम है।

एक नीजि चैनल से बातचीत में अमरनाथ मिश्रा ने कहा, ‘मंदिर निर्माण के आउट ऑफ कोर्ट सेटलमेंट का फार्मूला लेकर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के कई सदस्यों के पास गए थे।

उन्होंने यह फार्मूला सलमान नदवी को भी दिया था, ताकि इस पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक में चर्चा हो सके इस चर्चा का भरोसा सलमान नदवी ने अमरनाथ मिश्रा को भी दिया था।’

मिश्रा का दावा है कि इस मामले पर बोर्ड में चर्चा करने के बजाए सलमान नदवी इस फार्मूले को लेकर सीधे श्रीश्री रविशंकर के पास चले गए और वहां से उन्होंने इस फार्मूले का ऐलान कर दिया।

अमरनाथ मिश्रा के मुताबिक डील की कोई बात श्रीश्री रविशंकर से की गई या नहीं यह उन्हें नहीं मालूम, लेकिन यह बात उनसे जरुर की गई थी और उनके पास इस बात के पुख्ता प्रमाण भी हैं।

TOPPOPULARRECENT