Friday , April 27 2018

बाबरी मस्जिद मामला: कुछ मुस्लिम बुद्धिजीवी अदालत के बाहर सुलझाने के पक्ष में

बेंगलोर: एजेंसी से जारी खबर के मुताबिक मुस्लिम बुद्धिजीवियों और उलेमा के एक प्रतिनिधि मंडल ने कल ‘आर्ट ऑफ़ लिविंग’ के संस्थापक श्री श्री रवि शंकर से मुलाक़ात की और कई अहम मामले पर बातचीत की, साथ ही बाबरी मस्जिद मामले को अदालत के बाहर सुलझाने पर भी विमर्श हुआ।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

बैठक के बाद आर्ट ऑफ़ लिविंग ने अपनी जारी प्रेस रिलीज़ में बताया कि सुन्नी वक्फ बोर्ड, आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अहम सदस्यों और अन्य ने रवि शंकर से मुलाक़ात के बीच अयोध्या मुद्दे का समाधान अदालत के बाहर निकाले जाने का समर्थन किया। साथ ही उन्होंने कुछ शर्त पर मस्जिद को किसी दुसरे स्थान पर ले जाने के प्रस्ताव का भी समर्थन किया।

रिलीज़ के मुताबिक कई मुस्लिम बुद्धिजीवी उस मुद्दे में मदद कर रहे हैं, श्री श्री रवि शंकर के मुताबिक उनसे मुलाक़ात करने वालों में विभिन्न संगठनों के 16 नेता शामिल हुए। आर्ट ऑफ़ लिविंग ने अपने बयान में बताया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के एग्जिक्युटिव सदस्य मौलाना सैयद सलमान हुसैनी नदवी, उत्तर प्रदेश सुन्नी वक्फ बोर्ड के प्रमुख जाफर अहमद फारूकी, लखनऊ की टीले वाली मस्जिद के मौलाना वासिफ हसन और रिटायर्ड आईएएस अधिकारी डॉक्टर अनीस अंसारी बैठक में शामिल हुए। उसके अलावा बैठक में सेंटर फॉर ऑब्जेक्टिव रिसर्च एंड डेवलपमेंट डाइरेक्टर अतहर हुसैन सिद्दीकी, बिज़नेसमैन ए आर रहमान वगैरह शामिल हुए थे।

TOPPOPULARRECENT