Sunday , December 17 2017

बाबरी मस्जिद विवाद: सवालों के घेरे में श्री श्री का अयोध्या दौरा, ओवैसी ने बताया जोकर

Hindu spiritual leader Sri Sri Ravi Shankar acknowledges his followers before an open-air meditation day organized by the Art of Living foundation in Buenos Aires September 9, 2012. REUTERS/Enrique Marcarian (ARGENTINA - Tags: SOCIETY PROFILE) - RTR37QLQ

लखनऊ: राम जन्मभूमि आंदोलन से जुड़े डॉक्टर रामविलास वेदांती ने कहा कि श्री श्री रविशंकर एनजीओ चलाते हैं और उसके लिए विदेशों से चंदा लेते हैं। उसने आरोप लगाया कि श्री श्री अपने ब्रांड को बेचने के लिए यह सब कर रहे हैं। श्री वेदांती ने कहा कि अयोध्या के लिए जेल हम गए, लाठी हमने खाई, मामले में कूद वह गए। वही नर्मोही अखाड़े के नरेंद गिरी ने साफ़ कहा कि श्री श्री नोटंकी कर रहे हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

इसके अलावा एमआईएम के अधयक्ष असदुद्दीन ओवेसी ने कहा कि बाबरी मस्जिद के मामले को मजाक बना दिया है। उन्होंने कहा कि श्री श्री मामले को लेकर घूमते रहें कुछ नहीं होने वाला, मुझे समझ नहीं आया कि उसने वहां जाकर किनसे बात की।

आल इंडिया अखाडा परिषद के अध्यक्ष श्री नरेंद्रगिरी ने पत्रकारों को बताया कि विश्व हिन्दू परिषद और संत बिरादरी मंदिर निर्माण के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि इस मामले में श्री श्री की दखलंदाजी ठीक नहीं है। मिस्टर नरेंद्र गिरि ने कहा कि श्री श्री को अपनी गैर सरकारी संगठन चलाने पर ध्यान देना चाहिए। कांग्रेस के यूपी अध्यक्ष राज बब्बर ने तो कहा कि श्री श्री कश्मीर, और आईएसआईएस के पास भी अनुबंध के लिए जा चुके हैं, लेकिन क्या हुआ।

श्री श्री को क़रीबियों ने कहा कि उनके दिल में नोबेल पुरुस्कार हासिल करने की ख्वाहिश यह बात उस समय उजागर हुई हब श्री श्री रवि शंकर ने पाकिस्तान छात्रा मलाला युसुफजई को शांति का नॉबेल पुरुस्कार दिए जाने पर एतराज़ जताया था। उन्होंने कहा कि मलाल ने ऐसा कुछ भी नहीं किया है जिसके लिए उन्हें शांति का नोबेल पुरुस्कार दिया जाए। रवि शंकर ने यह भी बताया कि उन्हें भी नोबेल पुरुस्कार के लिए प्रस्ताव मिला था पर मैंने ठुकरा दिया।

TOPPOPULARRECENT