Friday , December 15 2017

विश्वगुरु कैसे बनेगा भारत? मामूली सवाल भी नहीं हल कर पा रहे हैं यहाँ के बच्चे: रिपोर्ट

भारत उन 12 देशों की सूची में दूसरे नंबर पर है जहां दूसरी क्लास के छात्र एक छोटे से पाठ का एक शब्द भी नहीं पढ़ पाते हैं। वर्ल्ड बैंक की एक रिपोर्ट में ये आंकड़े सामने आए हैं।

बैंक ने ये रिपोर्ट वर्ल्ड डेवलेपमेंट रिपोर्ट 2018 लर्निंग टू रियलाइज एजुकेशन्स प्रॉमिस के नाम से जारी की है।

रिपोर्ट के अनुसार, वर्ल्ड बैंक का कहना है कि बिना ज्ञान के शिक्षा देना ना केवल विकास के अवसर को बर्बाद करना है बल्कि दुनियाभर में बच्चों और युवा लोगों के साथ बड़ा अन्याय भी है।

विश्‍व बैंक ने वैश्विक शिक्षा में ज्ञान के संकट की चेतावनी भी दी है कि भारत समेत इन देशों में लाखों युवा छात्र, जीवन में कम अवसर और कम वेतन की आशंका का सामना करते हैं। क्योंकि उनके प्राइमरी और सेकेंडरी स्कूल उन्हें जीवन में सफल बनाने के लिए शिक्षा देने में विफल हो रहे हैं।

रूरल भारत में तीसरी क्लास के तीन चौथाई छात्र दो अंकों के घटाने वाले सवाल को भी हल नहीं कर पाते। स्कूल पास कर जाने के बाद भी कई बच्चे पढ़-लिख नहीं पाते या गणित का आसान-सा सवाल हल नहीं कर पाते।

बिना ज्ञान के शिक्षा गरीबी मिटाने और सभी के लिए अवसर पैदा करने और समृद्धि लाने के अपने वादे को पूरा करने में विफल होगी।
असल में अच्छी शिक्षा मिलने पर ही युवा लोगों से रोजगार, बेहतर आय, अच्छे स्वास्थ्य और बिना गरीबी के जीवन का वादा करती है।

 

TOPPOPULARRECENT