Sunday , December 17 2017

शिया मिलिशिया की वजह से बगदाद और दमिश्क सुरक्षित है: ईरानी विदेश मंत्री

जवाद ज़रीफ़ ने ट्विटर में अमेरिका की विदेश नीति की आलोचना की और उसे शर्मनाक बताया। ईरानी विदेश मंत्री जवाद ज़रीफ़ ने अपने अमेरिकी समकक्ष रेक्स टेलरसन के बयान के जवाब में कहा है कि अगर ईरानी और इराकी शिया मिलिशिया ने क़ुरबानी नहीं दी होती तो चरमपंथी संगठन दौलते इस्लामिया (आइएस) बगदाद और दमिश्क में हुकूमत कर रही होती।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

ईरानी विदेश मंत्री ने अपने एक ट्विट में भी सवाल किया कि , वह कोनसा देश है जो आइएस की वापसी के खिलाफ इराकियों के घरों की सुरक्षा के लिए खड़ा हुआ ?’

जवाद ज़रीफ़ ने ट्विटर के संदेश में अमेरिका की विदेश नीति की आलोचना की और उसे शर्मनाक बताया, जो ‘पेट्रोडालर्स’ के दबाव में आकर बनाई गई है।

गौरतलब है कि रविवार को अमेरिकी विदेश सचिव रेक्स टेलरसन ने कहा था कि ईरान के वे योद्धा जो इराक में चरमपंथी संगठन दौलते इस्लामिया से लड़ रहे हैं, उन्हें अब वापस चले जाना चाहिए क्योंकि युद्ध समाप्त होने को है।

TOPPOPULARRECENT