अरब देशों ने कहा- ‘बग़दादी के मारने के बाद भी ज़ंग खत्म नहीं हुआ’

अरब देशों ने कहा- ‘बग़दादी के मारने के बाद भी ज़ंग खत्म नहीं हुआ’

अरब देशों ने कहा है कि अमेरिकी सैन्य कार्रवाई में तथाकथित इस्लामिक स्टेट के मुखिया अबु बक्र अल बगदादी की मौत के बावजूद इस आतंकवादी संगठन के खिलाफ लड़ाई खत्म नहीं हुई है. उनके मुताबिक खतरा लगातार बना हुआ है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने रविवार को घोषणा की कि पश्चिमोत्तर सीरिया में एक सैन्य कार्रवाई के दौरान अल बगदादी मारा गया.

सऊदी अरब, मिस्र और जॉर्डन ने अल बगदादी के मारे जाने का स्वागत किया है और इसके लिए अमेरिका की कोशिशों को सराहा है. लेकिन इन देशों का यह भी कहना है कि वे अपने सहयोगी अमेरिका के साथ मिल कर आतंकवाद के खिलाफ युद्ध जारी रखेंगे.

एक बयान में सऊदी अरब ने कहा कि वह “इस खतरनाक आतंकवादी संगठन के सदस्यों को ढूंढ निकालने के अमेरिकी प्रयासों की सराहना करते हैं, जिसने दुनिया भर में इस्लाम और मुसलमानों की सच्ची छवि को खराब किया है और सऊदी अरब समेत दुनिया भर में ऐसे अत्याचार और अपराध किए हैं जो मौलिक मानवीय मूल्यों के विपरीत हैं.”

जॉर्डन के विदेश मंत्री अयमान अल-सफादी ने अल बगदादी की मौत को “आतंकवादियों और उनकी नफरत फैलाने वाली विचारधारा” के खिलाफ अमेरिका और जॉर्डन के साझा युद्ध में एक अहम कदम बताया है. उन्होंने ट्वीट किया, “जॉर्डन वैश्विक गठबंधन में अपने साझीदारों से सहयोग करते हुए इस बुराई को खत्म करने के प्रयासों में सबसे आगे बना रहेगा.”

वहीं मिस्र के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अहम हाफेज ने कहा कि आतंकवाद से लड़ने की दिशा में अल बगदादी की मौत एक अहम कदम है. साथ ही उन्होंने एक “एकीकृत कार्रवाई” और “व्यापाक नजरिए की भी अपील की जिसमें आतंकवादी गुटों के खिलाफ लड़ाई में सुरक्षा, विकास और वैचारिक पहलुओं को भी ध्यान में रखा जाए.”

साभार- डी डब्ल्यू हिन्दी

Top Stories